बिना कोर्ट के पुलिस ने की Jamia Millia Islamia हिंसा में शामिल 70 लोगों के स्‍केच जारी, इनाम भी घोषित


नई दिल्‍ली, Nit:
दिल्ली पुलिस ने पिछले महीने न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में शामिल 70 लोगों का स्केच जारी किया है।
पुलिस ने इससे पहले कुछ गिरफ्तारियां की थीं और अब तोड़फोड़, आगजनी और पथराव करने में शामिल लोगों के स्केच जारी किए गए हैं। पुलिस ने इन 70 लोगों पर इनाम भी घोषित किया है।

पुलिस ने अपने बयान में कहा, ‘मामले की जांच न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी थाना की क्राइम ब्रांच और एसआईटी द्वारा की जा रही है। जिन लोगों की तस्वीर ऊपर है उन सभी की 15 दिसंबर के उपद्रव/दंगों में सक्रिय भूमिका रही है। जो इन लोगों के बारे में सूचना देगा उन्हें इनाम दिया जाएगा।’
उल्लेखनीय है कि सीएए के अस्तित्व में आने के बाद 15 दिसंबर को जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के पास लोग सड़क पर उतर आए थे। जिस दौरान प्रदर्शनकारियों को खूब बवाल काटा था। गुस्साई भीड़ ने पहले तो पुलिसकर्मियों पर पथराव किया और उन्होंने फिर साउथ दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में डीटीसी की चार बसों में आग लगा दी। इसके अलावा 100 प्राइवेट वाहनों और पुलिस की 10 बाइक में भी तोड़फोड़ किया। पुलिस ने इस संबंध में कुछ लोगों को अरेस्ट भी किया है।

इस दौरान पुलिस लाउडस्पीकर से अपील करती रही कि वे पत्थर न मारें, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने एक नहीं सुनी और वाहनों में जमकर तोड़फोड़ की। इससे जुड़ा विडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था जिसमें कुछ लोग प्राइवेट वाहनों से पेट्रोल चोरी करते दिखाई दिए हैं जिनका इस्तेमाल उन्होंने बसों को आग के हवाले करने में किया था।

बाद में पुलिस जामिया यूनिवर्सिटी परिसर में घुसी थी जिनपर स्टूडेंट्स के साथ मारपीट करने के आरोप लगे हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पुलिस पर बिना इजाजत परिसर में घुसने और स्टूडेंट्स पर कार्यवाही के आरोप लगाए थे। यूनिवर्सिटी ने इस मामले में दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था जिसने पुलिस को एक्शन टेकन रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे।
-एजेंसियां
Reactions