16 मार्च तक कोई Online and Contactless Transactions नहीं किया तो क्रेडिट और डेबिट कार्ड नहीं करेंगे काम.....पढ़े क्यो?

नई दिल्‍ली, Nit. :
अगर आपने क्रेडिट और डेबिट कार्ड से 16 मार्च 2020 तक ऑनलाइन या कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन नहीं किया है तो यह सुविधा बंद हो जाएगी।
इस सुविधा को जारी रखने के लिए जरूरी है कि हर डेबिट और क्रेडिट कार्ड से 16 मार्च से पहले कम से कम एक बार ऑनलाइन और कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन कर लिया जाए। इसको लेकर रिजर्व बैंक की तरफ से 15 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी किया गया था।

क्या होता है कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन?
इस टेक्नोलॉजी की मदद से कार्ड होल्डर को ट्रांजैक्शन के लिए स्वाइप करने की जरूरत नहीं होती है। पॉइंट ऑफ सेल (POS) मशीन से कार्ड को सटाने पर पेमेंट हो जाता है। एक दिन में पांच कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन किए जा सकते हैं। एक ट्रांजैक्शन की लिमिट 2000 रुपये है। इसमें RFID (रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन) टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट के वॉल्यूम और वैल्यू में कई गुणा बढ़ोत्तरी हुई है। ऐसे में कार्ड ट्रांजैक्शन को सुरक्षित बनाने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। खासतौर पर नोटबंदी के बाद ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में काफी उछाल आया है, जिसके कारण रिजर्व बैंक ने बैंकों से कहा कि वह कार्ड ट्रांजैक्शन में सुरक्षा सुनिश्चित करें। 16 मार्च तक इन सुविधाओं को भी शुरू किया जा रहा है।
1. डमेस्टिक, इंटरनेशनल, पीओएस ट्रांजैक्शन, एटीएम ट्रांजैक्शन लिमिट ऑन/ऑफ करने की सुविधा।
2. कार्ड के स्टेटस में किसी तरह का बदलाव होने पर कार्ड होल्डर के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, मेल आईडी पर अलर्ट भेजना।
-एजेंसियां
Reactions