Kampil व Farrukhabad में मस्जिदो में जमात के साथ नमाज पढ़ने पर रोक, घर में पढ़ने की सलाह, नियमों का उल्लंघन करने पर होगी एफआइआर दर्ज

-कोरोना वायरस का कहर जारी, मस्जिदों में जमात के साथ नमाज पढ़ने पर लगी पाबंदी

-कोरोना पर शिकंजा कसने के लिए धार्मिक स्थलों पर पाबंदी

आमिर खान, फर्रूखाबाद N.I.T
चीन के वुहान से पूरी दुनिया में तबाही मचा रहा कोरोना वायरस हिंदुस्तान की जमीन पर हंगामी सूरते हाल से गुजर रहा है। दुनिया के हाल से वाकिफ देश व राज्यों के हुक्मरानों ने इस पर शिकंजा कसने के लिए कई सख्त कदम उठाए हैं। इसके मद्देनजर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले कुछ राज्यों पर लाॅकडाऊन किया था पर कोरोना की महामारी देखते हुए पूरे भारत में लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। इसके तहत तमाम धार्मिक जगहों पर पाबंदी लगाने का भी ऐलान किया है। ताकि भीड़ ना जुटे।

नियमों का उल्लंघन कर मस्जिद में सामूहिक रूप से नमाज अदा करने वालों पर पुलिस ने कार्रवाई करेगी। जिसमें इमाम समेत कई के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की गई जायेगी।

फर्रुखाबाद के जिलाधिकारी ने जिले के सभी थाना प्रभारियों को हिदायत दी कि अपने-अपने कस्बे व गांव गांव की मस्जिदो के मौलाना व मुअज्जिन को सलाह दी कि मस्जिद में नमाज अदा ना कराए अपने-अपने घर पर ही नमाजी नमाज अदा करे।

कमालगंज थाना क्षेत्र के गांव गौसपुर की मस्जिद के मौलाना ने सब लोगों को अपने-अपने घर पर ही नमाज पढ़ने की सलाह दी। मुअज्जिन ने ये ऐलान किया कि आप लोग जुमे की नमाज घर पर ही नमाज पढ़ें, जिस पर मौजूद सभी लोगों ने सहमति जताई. 

वहीं कम्पिल थानाध्यक्ष देवेंद्र गंगवार ने भी कस्बे व आसपास के गांवों के लोगो को भी यही सलाह दी कि जुमे की नमाज अपने-अपने घर पर ही पढे।

दरअसल, कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए सऊदी अरब ने उमरा पर भी अस्थाई रूप से पाबंदी लगा दी है। इसकी वजह से मक्का में हरम शरीफ वीरान हो गया है। मालूम हो कि दुनिया भर के मुसलमान हज के अलावा उमरा के लिए सऊदी अरब के मक्का और मदीना जाते हैं। मक्का के हरम शरीफ में लोग चौबीसों घंटे काबा की परिक्रमा करते हैं। साल भर हजारों की भीड़ में लोग वहां एक साथ तवाफ करते हैं। लेकिन कोरोना के भयावह रूप सामने आने के बाद सऊदी अरब की हुकूमत ने इस पर पाबंदी लगा दी है। इसके अलावा वहां दूसरी बड़ी मस्जिदों में जमात के साथ नमाज पढ़ने से बचने को कहा गया है.

वहीं, पश्चिम एशिया की कई बड़ी मस्जिदों में नमाज पर रोक लगा दी गई है। दरअसल, मस्जिदों में नमाज पर पाबंदी इसलिए लगाई जा रही है, क्योंकि लोग मस्जिदों में जमात के साथ नमाज पढ़ते हैं। 

कोरोना जैसी महामारी को फैलने से रोकने के लिए लोगों से जमात में नमाज अदा करने से दूर रहने की अपील की जा रही है।
Reactions