Lockdown Kampil ग्रामीण इलाके के पशुपालक संकट में, चारा हुआ दोगुना

आमिर खान, फर्रूखाबाद (कम्पिल) Nit. : 
भारत में लॉकडाउन के चलते पशुओं के चारे का संकट गहरा चला है। जनपद फर्रुखाबाद के ग्रामीण क्षेत्रों और आसपास के जनपदों से शहरों में भूसा व पुआल की गाड़ियां नहीं आ पा रही हैं। "नतीजा" इनके दाम दोगुने हो गए हैं। खरी व चुन्नी में भी भाव तेजी दिख रही है। भूसा पहले 500 से 600 रूपये कुंतल था, अब यह 1000 से 12 सो व 14 सो रुपए कुंतल बिक रहा है। यही हाल पुआल का है, यह 400 से 500 रूपये था, अब 12 सो रुपए कुंतल बिक रहा है। खरी का दाम 65 बढ़कर 90 और चुन्नी का दाम 17 बढ़कर 25 से 30 रूपये किलो तक जा पहुंचा है।

कम्पिल कस्बे क्षेत्र के गांव कटिया के पशुपालक बशीरुल खां व कमरान खां ने बताया की पशुओं को पालना मुश्किल हो गया है। क्योंकि उनका चारा ही नहीं मिल पा रहा है। मिल भी रहा है तो काफी महंगा है। दूध की बिक्री भी ठीक से नहीं हो पा रही है।

वहीं कम्पिल कस्बे क्षेत्र के गांव निजामुद्दीनपुर के पशुपालक फितरत आलम व प्रेमा देवी पत्नी सुभाष ने बताया की कस्बे में भूसा व चरी-चुन्नी की गाड़ी नहीं आ पा रही हैं। पुलिस उन्हें रोक रही है। भारत में लगे लाॅकडाऊन की वजह से गाड़ियां नहीं आ पा रही हैं। इस वजह से उनके दाम बढ़ गए हैं।
Reactions