Uttar Pradesh के 15 जिलों में 23 से 25 मार्च तक Lockdown घोषित

लखनऊ, Nit. :
यूपी सरकार ने कोरोना वायरस के खतरे से जनता को आगाह करते हुए लखनऊ सहित प्रदेश के 15 जिलों को पहले चरण में 23 से 25 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया है। इन सभी जिलों को सैनिटाइज किया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी खतरा टला नहीं है इसलिए पूरी तरह एहतियात बरतने की जरूरत है क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही बड़ा नुकसान कर सकती है। प्रदेश सरकार हर स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियों को लखनऊ में ही रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने रात नौ बजे के बाद भी लोगों से घरों के बाहर न निकलने की अपील की है। उन्होंने कहा कि उपचार से महत्वपूर्ण बचाव है।
प्रदेश के लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर, नोएडा, मुरादाबाद, प्रयागराज, आजमगढ़, अलीगढ़, बरेली, सहारनपुर, वाराणसी और लखीमपुर को लॉक डाउन घोषित किया है। इस दौरान राज्य परिवहन की बसों का संचालन पूरी तरह बंद कर दिया गया है।
इस संबंध में परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. राजशेखर ने बताया कि अब निगम की यूपी से राजस्थान, उत्तराखंड, हरियाणा राज्य को चलने वाली साधारण सेवा एवं एसी बसों का संचालन रोक दिया गया है। कोरोना वायरस के बचाव के क्रम में ये कदम उठाया गया है। वहीं, लखनऊ मेट्रो की सेवाएं भी 31 मार्च तक के लिए निलंबित कर दी गई हैं।

मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 341 हुई।
बता दें कि रविवार को देश भर में कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं। संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 341 हो गई है। मुंबई में कोरोना पीड़ित व्यक्ति की मौत हो गई है वह मधुमेह का रोगी था। वहीं, बिहार में भी एक कोरोना मरीज की किडनी फैल होने से मौत हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देश में जनता कर्फ्यू जारी है।

क्या-क्या खुलेगा रहेगा
दूध, सब्जी और दवा की दुकानें लॉकडाउन के दौरान खुली रहेंगी।
अस्पताल और क्लीनिक भी इस दौरान खुले रहेंगे।
इसके अलावा राशन की दुकानें भी खुली रहेंगी।
किसी बेहद जरूरी काम के लिए भी प्रशासन की ओर से छूट मिल सकती है।

क्या पेट्रोल पंप भी खुले रहेंगे
सरकार ने पेट्रोल पंपों और एटीएम को आवश्यक श्रेणी में रखा है इसलिए जरूरत के हिसाब से इन्हें खोला जा सकता है।

क्या निजी वाहन चला सकेंगे
अगर बहुत जरूरी हो तो लॉकडाउन में भी निजी वाहनों का प्रयोग किया जा सकता है।
हालांकि बिना वजह बाहर घूमने पर सरकार कार्यवाही कर सकती है।
आपात व्यवस्था में एंबुलेंस को भी बुला सकते हैं।

क्या घूमने जा सकेंगे
लॉकडाउन का फैसला इसलिए लिया गया है ताकि लोग एक-दूसरे के संपर्क में न आएं इसलिए जरूरी नहीं होने पर घर से बाहर न निकलें।

क्या शादी-विवाह के कार्यक्रम होंगे
संक्रमण फैलने के डर से किसी भी कार्यक्रम के लिए लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी।
बहुत जरूरी होने पर आपको प्रशासन से अनुमति लेनी होगी।

क्या निजी कर्मचारियों को काम पर जाना होगा
लॉकडाउन में सरकारी हो या निजी कंपनी सभी बंद रहेंगी। सिर्फ जरूरी विभाग के कार्यालय खुले रहेंगे।
-एजेंसियां
Reactions