Side Story: क्या आप जानते हैं कि हिटलर ने आज 30 अप्रैल 1945 को खुद को क्यो गोली मारी थी?, और हिटलर ने 6 साल में बिछवा दी थी 60 लाख लाशें !

दुनिया में अपना खौफ पैदा करने वाला हिटलर का जन्म 20 अप्रैल के दिन हुआ था. जानें कैसे हुई उनकी मौत 


नई दिल्ली , Nit. :

सुनसान कब्रिस्‍तान में एक ताजी कब्र के पास बैठकर 18 साल का एक लड़का फूट-फूटकर रो रहा था और कह रहा था ''मां मुझे छोड़कर क्‍यों चली गई... तुम्‍हें तो पता है मैं तुमसे कितना प्‍यार करता हूं... अब मैं कैसे जिऊंगा तुम्‍हारे बिना। तुमने बहुत दुख झेले मां और मैं भी तुम्‍ह‍ें कोई सुख नहीं दे पाया...।'' मां की मौत पर कलेजा फाड़कर रोने वाला यह लड़का आगे चलकर 20वीं सदी के सर्वाधिक चर्चित (संभवतः सर्वाधिक घृणित) व्‍यक्‍तियों में से एक बना। जी हां हम बात कर रहे हैं दुनिया के सबसे तानाशाह शासक एडोल्‍फ हिटलर की।

इतिहास में 30 अप्रैल का दिन एक ऐसे व्यक्ति की वजह से याद किया जाता है जो मानव इतिहास के सबसे क्रूर तानाशाहों में शुमार है. उस व्यक्ति का नाम है अडोल्फ हिटलर जिसने 1945 में आज ही के दिन आत्महत्या कर ली थी. उस दिन से पहले जर्मन तानाशाह को सोवियत सेनाओं ने हर ओर से घेर लिया था. पूरी दुनिया में मौत का खेल चुका हिटलर अपनी हार से बुरी तरह टूट चुका था. वह बर्लिन में एक खुफिया बंकर में रह रहा था जो जमीन से 50 फीट नीचे बना था. जब सोवियत सेना उसके काफी नजदीक पहुंच गईं तो हिटलर ने बंकर में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हिटलर की जाति नीति के कारण लगभग 1 करोड़ 10 लाख लोगों की मौत हुई थी. दूसरे विश्व युद्ध के कारण लगभग 6 करोड़ लोगों ने अपनी जान गंवाई थी.

हिटलर ने 6 साल में बिछवा दी थी 60 लाख लाशें

1933 में जर्मनी की सत्ता पर जब एडोल्फ हिटलर काबिज हुआ था तो उसने वहां एक नस्लवादी साम्राज्य की स्थापना की थी। उसके साम्राज्य में यहूदियों को सब-ह्यूमन करार दिया गया और उन्हें इंसानी नस्ल का हिस्सा नहीं माना गया। यहूदियों के प्रति हिटलर की इस नफरत का नतीजा नरसंहार के रूप में सामने आया, यानी समूचे यहूदियों को जड़ से खत्म करने की सोची-समझी और योजनाबद्ध कोशिश। होलोकास्ट इतिहास का वो नरसंहार था, जिसमें छह साल में तकरीबन 60 लाख यहूदियों की हत्या कर दी गई थी। इनमें 15 लाख तो सिर्फ बच्चे थे।

देश-दुनिया के इतिहास में 30 अप्रैल की तारीख में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है.

1598 : अमेरिका में पहली बार थियेटर का आयोजन.

1789 : जॉर्ज वॉशिंगटन सर्वसम्मति से अमेरिका के पहले राष्ट्रपति चुने गए.

1870 : भारतीय सिनेमा के पितामह धुंदीराज फाल्के उर्फ दादा साहब फाल्के का जन्म.

1908 : खुदीराम बोस और प्रफुल्ल चाकी ने मुजफ्फरपुर में किंग्सफोर्ड के मजिस्ट्रेट की हत्या करने के लिए बम फेंका, लेकिन दो बेगुनाह बम की चपेट में आकर मारे गए.

1973 : अमेरिका के राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने देश के राष्ट्रपति के नाते वॉटरगेट कांड की जिम्मेदारी ली. हालांकि उन्होंने साफ तौर पर कहा कि वह निजी तौर पर इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं.

1975 : वियतनाम युद्ध का अंत हुआ. तीन दिन के सत्तारूढ़ राष्ट्रपति दुओंग वैन मिन्ह ने अपनी सेनाओं से समर्पण करने और उत्तरी वियतनामियों से हमले रोकने को कहा.

1991 : बांग्लादेश में भीषण चक्रवात में सवा लाख से अधिक लोगों की मौत और 90 लाख लोग बेघर.

1993 : जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में एक मैच के दौरान उस समय की दुनिया की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी मोनिका सेलेज़ को छुरा मारकर घायल कर दिया गया.

2020 : चर्चित अभिनेता ऋषि कपूर का निधन

Reactions