गांव निजामुद्दीनपुर में Corona Rapid रिस्पांस टीम ने की जांच, 12 को आइसोलेशन वार्ड, 3 को (कोविड-19) का नोटिस मिला

आमिर खान, फर्रूखाबाद/ कम्पिल, Nit. : 
जनपद फर्रुखाबाद के कम्पिल कस्बे के गांव निजामुद्दीनपुर (नागा सय्यद) में पहुंची कायमगंज स्वास्थ्य विभाग से कोरोना रेपिड रिस्पांस टीम ने गैर राज्यों से अपने घर लौटे लोगों की गांव निजामुद्दीनपुर  के पंचायत घर में कोरोना जांच की। दुनिया भर में कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्वास्थ्य विभाग कोरोना रेपिड रिस्पांस टीम कोरोना जांच कर रही है। 

"गांव निजामुद्दीनपुर में Corona Rapid रिस्पांस टीम ने की जांच, आमिर पत्रकार के भाई समेत 12 को आइसोलेशन वार्ड, 3 को (कोविड-19) का नोटिस मिला."

आज शनिवार को जनपद फर्रुखाबाद के कम्पिल कस्बे के गांव निजामुद्दीनपुर (नागा सय्यद) गांव हमीरपुर काज़ी (ईटौआ) व सूरजपुर चम रउआ (मढिया) में कोरोना रेपिड रिस्पांस टीम ने जांच की। कोरोना रेपिड रिस्पांस टीम के डॉक्टर रजनी लता, डाॅ० अतीत वर्मा, ने गांव में गैर राज्यों से आए नागरिकों की जांच की। जांच के दौरान प्रधान आफाक अहमद, आशा नसरीन बेगम, संयोजक नसरत इदरीसी, प्रेमपाल वर्मा, कम्पिल थाने के दरोगा डीपी गौतम पुलिस टीम के साथ उपस्थित रहे। वही कम्पिल थानाध्यक्ष देवेंद्र गंगवार ने पूरे गांव में टीम के साथ फ्लैग मार्च कर लाउडस्पीकर के माध्यम से सभी को सूचना दी कि जो व्यक्ति बाहर से आया है वह अपनी-अपनी जांच करा ले अगर कोई अपनी जांच नहीं कराएगा उस पर कार्यवाही की जाएगी।
कोरोना रेपिड रिस्पांस टीम ने गांव के लगभग सभी 138 लोगों की जांच की जिसमे 12 लोगो को आइसोलेशन में रहने को कहा। जिसमें गांव के 3 परिवार को (कोविड-19) का नोटिस दिया। नोटिस पर लिखा था कि *(कोविड-19, इस घर के अन्दर न जाये यह घर पर्यवेक्षण में है, जिला प्रशासन फर्रुखाबाद)* नोटिस वाले को डॉक्टरों ने हिदायत दी कि अपने घर से 14 दिन बाहर ना निकले अगर बाहर दिखाई दिए तो आप पर कार्यवाही हो जाएगी। वही डाक्टरों ने प्रधान से कहा कि 12 लोगो को आइसोलेशन में रखना है। और आइसोलेशन में रहने वाले सभी 12 लोगो से कहा कि आपको आइसोलेशन में रहकर 14 दिन पूरे करने हैं। आइसोलेशन गांव के ही प्राइमरी स्कूल में बनाया गया है। इन सभी 12 लोगो को प्राइमरी स्कूल में बने आइसोलेशन में रहकर अपनी तारीख के अनुसार 14 दिन पूरे करने हैं। 14 दिन पूरे हो जाने के बाद वह अपने घर जा सकते हैं।

गांव की आशा से टीम के डॉक्टर ने कहा कि 3 घरों को (कोविड-19) का नोटिस इस 3 घरों पर चिपका दे। और जांच करा रहे सभी लोगों से कहा कि अपना मुंह ढक कर रहे और साबुन से बार-बार हाथ धोएं सभी लोग अपने-अपने घरों में रहे कोरोना से बचने का यही एक समाधान है।
Reactions