Lockdown Attack Jobs : रेस्टोरेंट कारोबार से जुड़े 73 लाख लोगों की नौकरियों पर संकट

बीते कुछ समय के दौरान देश में रेस्टोरेंट कारोबार में आई तेजी में ज्यादातर योगदान शहरी क्षेत्र का रहा है. कोरोना वायरस से यही क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित है

नई दिल्ली, Nit. :

कोरोना वायरस के चलते देशव्यापी लॉकडाउन के विस्तार ने अर्थव्यवस्था को लेकर कई आशंकाएं खड़ी कर दी हैं. द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब 40 दिन के हो चुके लॉकडाउन ने रेस्टोरेंट कारोबार की कमर तोड़ दी है. अनुमान है कि इसके चलते करीब 73 लाख लोगों की नौकरी पर संकट है.

बीते कुछ समय के दौरान देश में रेस्टोरेंट कारोबार में आई तेजी में ज्यादातर योगदान शहरी क्षेत्र का रहा है. कोरोना वायरस से यही क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित है. संक्रमण से हुई अब तक 400 से ज्यादा मौतों में से 65 फीसदी से ज्यादा छह शहरों- मुंबई, पुणे, दिल्ली, इंदौर, अहमदाबाद और हैदराबाद- में हुई हैं. इन शहरों में दर्जनों ‘कंटेनमेंट जोन’ बनाए गए हैं जहां किसी की भी आवाजाही पर प्रतिबंध है. जैसे हालात हैं उनमें लग रहा है कि यह स्थिति जल्द सुधरने वाली नहीं है. देश के करीब पांच लाख रेस्टोरेंट अब उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार उन्हें कोई राहत दे. वरना उनमें से कइयों को काम-धंधा समेटना पड़ेगा.

इससे पहले कल, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर देश भर में लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक बढ़ाये जाने के मद्देनजर संशोधित दिशा-निर्देश जारी कर दिए. इनके मुताबिक रेल और हवाई यातायात के साथ साथ सभी तरह के सार्वजनिक परिवहन पर प्रतिबंध पहले की तरह जारी रहेंगे. शैक्षणिक संस्थान, मॉल, सिनेमा हॉल और दूसरे व्यावसायिक प्रतिष्ठान भी पहले की तरह बंद रहेंगे.


Reactions