फर्रुखाबाद सहित इन 19 ग्रीन जिलों में मिल सकती है 4 मई से छूट : Lockdown Zone

अब्दुल मुईद खान, फर्रुखाबाद, Nit, :
कोरोना वायरस के संक्रमण काल में देश की सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य में संक्रमित के आंकड़े दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में फिलहाल कोविड-19 के संक्रमित भले ही अन्य राज्यों के मुकाबले भले ही कम हों, लेकिन केंद्र सरकार यहां पर लॉकडाउन खोलने को लेकर बेहद संजीदा है।

सूबे में कोरोना संक्रमित के आंकड़े अन्य राज्यों से भले ही कम हों, लेकिन यहां के 19 जिलों को रेड जोन में शामिल किया गया है। प्रदेश के 19 जिलों को रेड जोन, 36 को ऑरेंज जोन तथा 20 को ग्रीन जोन में रखा गया है। रेड जोन वाले इलाकों में अभी पाबंदियां जारी रहेंगी।कोरोना वायरस के संक्रमण में देश की सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य में संक्रमित के आंकड़े दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमित भले ही अन्य राज्यों के मुकाबले भले ही कम हों, लेकिन केंद्र सरकार यहां पर लॉकडाउन खोलने को लेकर बेहद संजीदा है। इसी कारण से उत्तर प्रदेश के आकड़े अन्य से भले ही कम हो 19 जिलों को रेड जोन में शामिल किया गया है। रेड जोन वाले इलाकों में अभी पाबंदियां जारी रहेंगी।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश के उन जिलों की लिस्ट जारी कर दी है, जहां कोरोना वारयस का खतरा अधिक है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा केस हैं, लेकिन 75 जिलों वाले राज्य उत्तर प्रदेश में रेड जोन अधिक हैं। उत्तर प्रदेश में रेड जोन में 19 जिले हैं। देश में रेड जोन में उन जिलों को रखा गया है, जहां कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा खतरा है। ऐसे जिलों में अभी भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन हो रहा है और बड़ी आबादी की जांच की जा रही है। माना जा रहा है कि रेड जोन में शामिल जिलों को लॉकडाउन से अभी तो कोई राहत नहीं मिलेगी। यहां पर लोगों को अभी लम्बे समय तक तमाम बंदिशों में रहना पड़ेगा।

उत्तर प्रदेश के रेड जोन
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ ही सर्वाधिक संक्रमित आगरा भी रेड जोन में हैं। इनके अलावा मेरठ, सहारनपुर, कानपुर नगर, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, गौतम बुद्ध नगर, बुलंदशहर, रायबरेली, वाराणसी, बिजनौर, अमरोहा, संत कबीर नगर, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, रामपुर, मथुरा और बरेली को रेड जोन में रखा गया है।

उत्तर प्रदेश के ऑरेंज जोन
उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण के अपेक्षाकृत कम असर वाले जिले, लेकिन संवेदनशील को ऑरेंज जोन में रखा गया है। इनमें गाजियाबाद, हापुर, बागपत, बस्ती, बदायूं, सम्भल, ओरैया, शामली, सीतापुर, बहराइच, कन्नौज, आजमगढ़, मैनपुरी, श्रावस्ती, बांदा, जौनपुर, एटा, कासगंज, सुल्तानपुर, प्रयागराज, जालौन, मिर्जापुर, इटावा, प्रतापगढ़, गाजीपुर, गोंडा, मऊ, भदौही, उन्नाव, पीलीभीत, बलरामपुर, अयोध्या, गोरखपुर, झांसी, हरदोई व कौशाम्बी को जगह मिली है। शामली रेड जोन से ओरेंज जोन में आया, लेकिन राहत नही मिलेगी। डीएम ने किया सपष्ट ओरेंज जोन में अभी कोई रियायत नही मिलेगी।  तीन मई के बाद भारत सरकार के निर्देश मिलने पर मिले निर्देशो का पालन कराया जा सकता है।

उत्तर प्रदेश के ग्रीन जोन
उत्तर प्रदेश के उन जिलों को ग्रीन जोन में रखा गया है, जिनको तीन मई के बाद राहत मिलेगी। यहां पर भी लॉकडाउन खुलने के बाद लोगों को बचाव का उपाय करने के साथ ही मास्क भी पहनना अनिवार्य होगा। घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना और शारीरिक दूरी का ध्यान रखना जरूरी होगा। ग्रीन जोन में बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, हाथरस, महाराजगंज, शाहजहांपुर, अम्बेडकरनगर, बलिया, चंदौली, चित्रकुट, देवरिया, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, हमीरपुर, कानपुर देहात, कुशीनगर, ललितपुर, महोबा, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र व अमेठी को रखा गया है।
Reactions