Farrukhabad News: भाजपा सांसद मुकेश राजपूत के भतीजे और प्रतिनिधि के खिलाफ मुकदमा दर्ज

अब्दुल मुईद खान, फर्रुखाबाद, Nit : 
भाजपा सांसद मुकेश राजपूत के प्रतिनिधि और उनके भतीजे के खिलाफ पुलिस ने जाँच रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। उनके ऊपर फेसबुक के माध्यम से जिला प्रशासन पर आरोप लगाने का आरोप है।

कोतवाली फतेहगढ़ में तैनात महिला दारोगा सीमा पटेल ने मुकदमा दर्ज कराया। जिसमे कहा है कि अपर पुलिस अधीक्षक के आदेश पर बीते 7 मई 2020 को जाँच की गयी। जाँच आदेश के साथ ही फेसबुक स्कीन शाट तकीपुर का सिपाही कोरोना पॉजिटिव होने से हडकंप फर्रुखाबाद जिला प्रशासन का स्पष्ट षड्यंत्र है एवं अन्य फेसबुक स्कीन शाट की जाँच की गयी। जिसमे भाजपा सांसद प्रतिनिधि दिलीप भारद्वाज और भतीजे राहुल राजपूत को विवेचक नें दोषी पाया। दोनों के खिलाफ पुलिस नें महिला दारोगा की तहरीर पर धारा 67 आईटीएक्ट, 505/153A, के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

*क्या है पूरा मामला*
दरअसल एक अख़बार कि कटिंग फेसबुक पर दिलीप भारद्वाज नें डाली। जिसमे अख़बार में छपा था कि तकीपुर का सिपाही कोरोना पॉजिटिव होने से हड़कंप। यह पोस्ट बीते 4 मई को पोस्ट की गयी थी। जिसमे दिलीप ने लिखा कि जिले कि सीमा सील होनें के बाद भी एक कोरोना पॉजिटिव अपनी पत्नी के साथ फर्रुखाबाद के तकीपुर से कानपुर बाइक से रात 1:30 बजे चला गया। न जिले की सीमाओं पर रोंका गया और ना ही कन्नौज और कानपुर की सीमाओं पर। तकीपुर से कानपुर तक कोई कुछ नही कहता। रात के सन्नाटे में एक महिला के साथ मोटर साइकिल बेरोंकटोक चली जाती है। ये फर्रुखाबाद जिला प्रशासन का स्पष्ट षडयंत्र है।

दिलीप की इस पोस्ट पर सांसद के भतीजे राहुल राजपूत ने कमेन्ट किया। जिसमे राहुल नें लिखा कि 5 मरीज मिले उनको साहब नें अपने पुरस्कार के चलते चुपके से दूसरे जिलों में भेज दिया। जल्दी में एटा वाला लड़का भी फर्रुखाबाद से दस हजार रूपये देकर भगा दिया गया अपने बहन के घर, अब अधिकारी है साहब जो मर्जी आये करें सब जायज है। इसी मामले को पुलिस ने संज्ञान लेकर कार्यवाही की है।
सांसद प्रतिनिधि दिलीप भारद्वाज ने कहा कि उनका आज भी वही आरोप है। जब जिले की सीमा सील थी तो सिपाही कैसे आ गया और परिवार को लेकर चला गया। जिला प्रशासन इसका जबाब क्यों नही दे रहा। केबल फर्जी मुकदमा लिखकर सत्य को दबाया नही जा सकता।
Reactions