Gurugram News: गुरूग्राम के कई इलाकों में टिड्डियों का हमला, दिल्ली में आपात बैठक

गुरूग्राम, Nit.:
 टिड्डियों का अटैक अब राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र तक पहुंच गया है। गुरूग्राम के कई इलाकों में बड़ी संख्या में टिड्डियों के दल ने हमला किया है। गुरूग्राम के बाद अब इनके दिल्ली पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। गुरूग्राम के सेक्टर पांच इलाके में टिड्डियों के दल को देखा गया है। महात्मा गांधी रोड, दौलताबाद फ्लाईओवर के पास भी ये भारी संख्या में नजर आ रहे हैं। इसके अलावा शुक्रवार को भी गुड़गांव के इलाकों में टिड्डियों का समूह नजर आया।
गुरूग्राम पहुंचा टिड्डियों का दल
अलग-अलग समूहों में टिड्डियों का दल अब गुरूग्राम पहुंच चुका है, जिससे यहां के किसानों की परेशानियां बढ़ गई है। सेक्टर पांच आरडब्ल्यूए के प्रेसीडेंट दिनेश वशिष्ठ ने बताया कि आज सुबह टिड्डी दल नजर आया। जिसे देखकर लोगों ने हॉर्न, थाली और ताली बजाई ताकि इन्हें भगाया जा सके।
टिड्डी दल को देखते हुए ATC ने विमान के पायलट्स को हिदायत दी है कि उड़ान और लैंडिंग के समय खास ध्यान रखें। गुरुग्राम-द्वारका एक्सप्रेसवे के पास भी बड़ी संख्या में टिड्डी देखी गई हैं।
दिल्ली में इमरजेंसी बैठक
गुड़गांव में टिड्डियों का दल पहुंचने के बाद दिल्ली की ओर इनके बढ़ने की संभावना बढ़ गई है। ऐसे में दिल्ली सरकार ने टिड्डियों के खतरे को देखते हुए आपात बैठक बुलाई है। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने टिड्डियों के दल के गुड़गांव तक पहुंचने के बाद ये इमरजेंसी बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कि इसमें टिड्डी अटैक के मद्देनजर रणनीति बनाई जा सकती है।
टिड्डी दल के आने संभावना को देखते हुए एक दिन पहले ही एडवाइजरी जारी कर दी गई थी। केवल गुरूग्राम में ही नहीं इससे पहले ये दल राजस्थान-हरियाणा के कई शहरों में तबाही मचा चुके हैं। बताया जा रहा कि झज्जर से टिड्डियों का ये दल गुरूग्राम पहुंचा है। इससे पहले ये जयपुर में भी बड़ी संख्या टिड्डियों का समूह नजर आया था।
हरियाणा सहित राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात सहित कुल 9 राज्यों में अलर्ट जारी किया जा चुका है। ये टिड्डी दल हवा के साथ चलते हैं। हवा का रुख जिस ओर होता है ये दल वहां के पेड़-पौधों और फसलों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इन पर निगरानी रखने और किसानों जागरूक करने के लिए कृषि और कल्याण विभाग ने कवायद तेज कर दी है। वहीं टिड्डी दल के राजस्थान के अलवर और उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पहुंचकर फसलों को नष्ट करने की बात सामने आ रही है।
बताया जा रहा है कि इस बार टिड्डियां समय से पहले आई हैं और इसका कारण मौसम का शुष्क होना भी है। पहले के मुकाबले इस बार यह अधिक ताकतवर और इनकी संख्या बहुत अधिक है। यह सुबह 10 बजे के आस-पास अपना स्थान बदलती हैं और फसलों को बर्बाद करने के साथ-साथ पेड़-पौधों को भी नुकसान पहुंचाती हैं। इसको लेकर जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है।
जानकारी के मुताबिक एक छोटा रेगिस्तानी टिड्डी दल एक दिन में दस हाथियों के बराबर फसल को साफ कर जाता है।
-एजेंसियां
Reactions