‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ जैसे नारों के बीच हाथ बांधे बैठे रहे केजरीवाल : Lal Qila

'भारत माता की जय' और 'वंदे मातरम' जैसे नारों के बीच हाथ बांधे बैठे रहे केजरीवाल

नई दिल्‍ली, Nit. :

74वें स्वतंत्रता दिवस के जश्न के बीच एक बार फिर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सवालों के घेरे में आ गए हैं। दरअसल, लालकिले की प्राचीर से भाषण के बाद जब पीएम मोदी ने हाथ उठाकर ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाए तो अरविंद केजरीवाल हाथ बांधे बैठे रहे। हालांकि उनके आसपास बैठे सभी लोग हाथ उठाकर नारे लगा रहे थे। इसको लेकर बीजेपी ने केजरीवाल पर सवाल उठाए हैं।

दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर अपना भाषण पूरी तरह से खत्म करने से पहले पीएम मोदी ने वहां मौजूद लोगों से अपील की कि वे सभी दोनों हाथ उठाकर ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगाएं। इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग अपने हाथ उठाकर नारे लगाने लगे लेकिन ‘वंदे मातरम’ के नारे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल अपनी जगह पर बैठे रहे। इसे लेकर दिल्ली बीजेपी ने केजरीवाल पर बड़े सवाल उठाए हैं।
‘आतंकियों के लिए खड़े हुए हाथ, वंदे मातरम पर चुप क्यों’
दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता ताजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘अरविंद केजरीवाल! वन्दे मातरम का सम्मान करने से आपका वोट बैंक नाराज हो जाएगा? बाटला आतंकवादियों के लिए तो आपके हाथ बड़ी जल्दी खड़े हुए थे, सेना से सबूत मांगने के लिए तो आपके हाथ बड़ी जल्दी खड़े हुए थे, तो आज कौन सी बीमारी हो गई आपको, जो वन्देमातरम पर आपने हाथ खड़े करने से मना कर दिया?’
‘बीजेपी का नारा नहीं है वंदे मातरम’
बग्गा ने कहा कि केजरीवाल चुनाव के दौरान साफ कहते रहे कि मुसलमान उन्हें वोट करें, क्या आज वंदे मातरम के नारे पर हाथ न खड़े करना उसी वोटबैंक को खुश करने की कोशिश थी?
उन्होंने कहा कि वंदे मातरम का नारा बीजेपी या किसी पार्टी का नहीं है, केजरीवाल को इस पर हाथ उठाना चाहिए था।
-एजेंसियां
Reactions