बस डुबोने वाले रोडवेज चालक के व‍िरुद्ध कार्यवाही की मांग : Mathura Bus incident


मथुरा, Nit. :

वगत द‍िवस 18 अगस्त को मूसलाधार बार‍िश के कारण हुए नए बसअड्डे पर जलभराव के बावजूद रोडवेज बस चालक द्वारा 25 यात्र‍ियों की जान से ख‍िलवाड़ करने पर रोष जाह‍िर करते हुए श्रीकृष्ण सेना ने उक्त बसचालक के ख‍िलाफ डीएम से कार्यवाही की मांग की है।

श्रीकृष्ण सेना ने डीम को ल‍िखे पत्र में कहा है क‍ि शहर के नया बस अड्डा रेलवे पुल के नीचे उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की अनुबंधित वक्त बस जिसमें कि लगभग 25 सवारियां थीं, बस गहरे पानी में डूब गई ज‍िसे स्थानीय पुलिस व फायर सर्विस कर्मियों ने बहुत मेहनत से बसों में सवार महिला पुरुष वह बच्चों को बचाया। हम उन पुलिसकर्मियों को बार-बार नमन करते हैं जिन्होंने बस में मौजूद सवारियों को सकुशल बचाया।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब शाम लगभग 6:00 बजे से मूसलाधार बारिश हो रही थी, पूरे शहर में चारों ओर पानी भरा हुआ था, पुलिस जगह-जगह लोगों को चेतावनी कर रही थी कि गहरे पानी में न जाएं, इसके उपरांत भी उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की अनुबंधित बस रेलवे पुल के नीचे गहरे पानी में कैसे चली गई जबक‍ि लगभग 25 की संख्या में महिला पुरुष बैठे थे। गौरतलब है क‍ि बस अड्डा के निकट रेलवे पुल के नीचे लगभग 8 से 10 फुट पानी भरा हुआ था तब उक्त बस के ड्राइवर ने उस बस को गहरे पानी में क्यों फसाया जिससे उन सवारियों की जान के लाले पड़ गए। स्थानीय पुलिस ने फायर सर्विस की मदद से उन सभी बस यात्रियों को बचाया जा सका, बस ड्राइवर द्वारा जानबूझकर बस को गहरे पानी में घुसाया गया जिससे बस में सवार यात्रियों की जान से खिलवाड़ किया गया।

अत: उक्त बस चालक व बस के मालिक के विरुद्ध यात्रियों की जान से खिलवाड़ करने के अपराध के सम्बंध में उचित दंडात्मक कार्यवाही की जाये व ऐसे चालक के अनुज्ञा पत्र व बस के अनुबंध पत्र को अविलंब निरस्त किया जाये जिससे जनता में विश्वास की भावना पैदा हो सके।

Reactions