सीरो सर्वे की दूसरी रिपोर्ट: देश की बड़ी आबादी आ सकती है corona Virus की लपेट में

नई दिल्‍ली, Nit. :
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि सीरो सर्वे की दूसरी रिपोर्ट के मुताबिक देश की एक बड़ी आबादी अब भी कोरोना वायरस की जद में आ सकती है। डीजी आईसीएमआर (ICMR) बलराम भार्गव ने बताया कि आईसीएमआर की दूसरी नेशनल सीरो रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त 2020 तक 10 साल से ज्यादा की उम्र का हर 15वां शख्स कोरोना की चपेट में आ चुका है।
देश में कोरोना को लेकर पैदा हुए हालात और वर्तमान स्थिति की जानकारी देने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय, आईसीएमआर और नीति आयोग ने मंगलवार को एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। डीजी आईसीएमआर बलराम भार्गव ने कहा, ‘सीरो रिपोर्ट में एक बड़ी आबादी के कोरोना की चपेट में आने की आशंका जताई गई है, ऐसे में 5T स्ट्रैटिजी (टेस्ट, ट्रैक, ट्रेस, ट्रीट और टेक्नॉलजी) को अपनाना होगा।’ उन्होंने कहा, ‘दूसरी सीरो रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त तक 10 साल से ऊपर का हर 15वां शख्स कोरोना की चपेट में आ चुका है।’

ICMR ने अगले कुछ महीनों के लिए किया आगाह
आईसीएमआर के डीजी ने राज्य सरकारों से अपील की है कि आगामी त्योहारी सीजन, सर्दी के मौसम को देखते हुए वे खास सतर्कता बरतें। उन्होंने कहा, ‘अगले कुछ महीनों के दौरान कई बड़े त्योहार, सर्दी के मौसम और बड़ी संख्या में लोगों के जुटने की आशंका के मद्देनजर राज्य सरकारों को नई कंटेनमेंट स्ट्रैटिजी को अपनाना होगा।’

सीरो रिपोर्ट में खुलासा, ग्रामीण इलाके कम प्रभावित
डीजी आईसीएमआर बलराम भार्गव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक और बड़ी बात कही। उन्होंने बताया कि दूसरी सीरो रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस से ग्रामीण इलाके इतने प्रभावित नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘दूसरी
सीरो सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक SARS-CoV2 से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरी स्लम और शहरी नॉन-स्लम एरिया हैं। ग्रामीण क्षेत्र अपेक्षाकृत कम प्रभावित हैं।’

स्वास्थ्य सचिव ने बताया, अकेले सितंबर में हुए करीब 3 करोड़ कोरोना टेस्ट
दूसरी तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि सितंबर महीने में देशभर में करीब 3 करोड़ कोरोना टेस्ट हुए हैं। देश में प्रति 10 लाख आबादी पर टेस्ट की संख्या 50 हजार के आंकड़े को पार कर गई है। राजेश भूषण ने कहा, ‘प्रति 10 लाख आबादी पर मृतकों की संख्या भारत में पूरी दुनिया में सबसे कम है। इसके अलावा भारत में अब तक 51 लाख कोरोना मरीज पूरी तरह ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं, जो पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा है।’
-एजेंसियां
Reactions