Hathras में Gangrapऔर हत्या के मामले की जाँच के लिए तीन सदस्यीय SIT गठित


लखनऊ, Nit.:

योगी आदित्यनाथ ने हाथरस में दलित लड़की से गैंगरेप और हत्या मामले की जाँच के लिए तीन सदस्यीय विशेष जाँच दल SIT गठित की है.

यह जानकारी बुधवार को उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री के ट्विटर हैंडल से दी गई है.
ट्वीट में बताया गया है कि एसआईटी एक हफ़्ते के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी. मुख्यमंत्री ने इस मामले में दोषियों के ख़िलाफ़ फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने और प्रभावी पैरवी करने के निर्देश दिए हैं.
इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस में दलित लड़की से गैंगरेप और हत्या मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है. उन्होंने अपराधियों को कड़ी से कड़ी सज़ा देने की बात भी कही है.
दरअसल, हाथरस गैंगरेप मामले में जिस तरह से कार्यवाही हुई उसे लेकर उत्तर प्रदेश सरकार और यूपी पुलिस की काफ़ी आलोचना हो रही है.
पुलिस और प्रशासन पर पीड़िता के परिवार की सहमति के बिना ही उसका अंतिम संस्कार किए जाने के आरोप हैं. हालाँकि हाथरस के ज़िलाधिकारी प्रवीण कुमार ने कहा कि परिवार की सहमति के बिना पीड़िता का अंतिम संस्कार किए जाने के आरोप झूठ हैं.
उन्होंने कहा, “पीड़िता के पिता और भाई ने रात में उसका अंतिम संस्कार करने के लिए सहमति दी थी. अंतिम संस्कार के दौरान पीड़िता के परिजन भी मौजूद थे. शव को ले जाने वाली गाड़ी गाँव में रात 12:45 से 2:30 बजे तक मौजूद थी.”
पीड़िता के परिवार का कहना था कि उसकी जीभ कट गई थी और वो बोल नहीं पा रही थी.
वहीं हाथरस के एसपी विक्रांत वीर ने कहा कि पीड़िता की जीभ को किसी भी तरह के हथियार से नहीं काटा गया था. मीडिया और सोशल मीडिया में चलाई जा रही रिपोर्टें भ्रामक हैं.
उन्होंने ये भी कहा कि मेडिकल रिपोर्ट तैयार करने वाली टीम ने अभी गैंगरेप को लेकर स्पष्ट राय नहीं दी है, फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतज़ार किया जा रहा है.
हालांकि चारों गिरफ़्तार अभियुक्तों पर गैंगरेप की धारा ही लगाई गई है.
पुलिस अधीक्षक के मुताबिक़ पीड़िता की मौत के बाद मुक़दमे में हत्या की धारा भी जोड़ दी गई है. पुलिस अधीक्षक का कहना है कि पीड़िता की हालत में सुधार होने के बाद पुलिस ने उसके बयान दर्ज किए थे जिसके बाद ही गैंगरेप की धारा मुक़दमे में जोड़ी गई थी.
उन्होंने कहा, पीड़िता ने पुलिस टीम को बोलकर और इशारों में अपना बयान दर्ज कराया था.
-BBC
Reactions