ताली बजाओ आंदोलन का हुआ असर ,Railway Minister ने किया ऐलान ,भर्ती के लिये परीक्षाओं का आयोजन 15 दिसंबर से होगा


नई दिल्ली, Nit. : 

मोदी सरकार की नीतियों से तंग आकर अब युवाओं और विद्यार्थियों ने एक बड़ा मुहिम सरकार के खिलाफ छेड़ दिया है।
5 सितंबर को देश के विभिन्न हिस्सों में लोगों ने थाली बजाकर अपना गुस्सा जताया। ट्विटर पर #5baje5min ट्रेंड चलाया गया। जिसमें लोगों ने सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया।
लखनऊ,इलाहाबाद समेत कई जगहों पर थाली बजाकर युवाओं ने प्रदर्शन किया। विद्यार्थियों की मांग है कि कोविड-19 के चलते परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ा दी जाए।वहीं दूसरी तरफ युवा बेरोज़गारी और निजीकरण से परेशान हैं।
छात्रों की मांग है कि
1. कोविड-19 के चलते सभी परीक्षाओं की तिथि आगे बढ़ा दी जाए।
2. लाभदायक पीएसयू के निजीकरण को रोकें।
3. विभिन्न परीक्षाओं के सभी लंबित परिणाम घोषित करें ।
4. सभी रिक्त पदों पर भर्ती करें।

परिणाम सवरूप थाली बजाओ आंदोलन का तत्काल असर हुआ. शाम करीब 6 बजे रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ​ट्वीट किया, “रेलवे में विभिन्न पदों की सभी 3 श्रेणियों के लिये भर्ती प्रक्रिया के आवेदनों की जांच पूर्ण की जा चुकी है, विभिन्न पदों पर भर्ती के लिये परीक्षाओं का आयोजन 15 दिसंबर से शुरु किया जायेगा।”

कई दिन से युवा ट्विटर पर विरोध कर रहे हैं. आज युवाओं ने अपने तरीके से थाली बजाकर सरकार को जगाने का प्रयास किया. कई दिन से ट्विटर पर बेरोजगारी को लेकर कई हैशटैग ट्रेंड कर रहे हैं. आज 5 बजे देश के कई हिस्सों में ये थाली विरोध हुआ और ट्विटर पर सैकड़ों की संख्या में वीडियो भर दिए गए. ऐसा होते ही रेलवे में नौकरियों की घोषणा हो गई.

आपका काम सिर्फ सरकार चुनना नहीं है. सरकार चुनने के बाद उसे कुरेदना, जगाना और अपनी आवाज सुनाना भी आपका काम है. जनता ने ये काम बंद कर दिया है, इसलिए सरकार कई मोर्चे पर निरंकुश और तानाशाह नजर आती है.

Reactions