Delhi Weather: दिल्ली में नवबंर से ही ठंड तोड़ रही रेकॉर्ड, आने वाले दिनों में कैसा रहेगा मौसम का हाल

नई दिल्ली, Nit. :
देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण (Pollution) के साथ-साथ ठंड का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा है। अभी से ही सुबह-शाम हाड़ कंपा देने वाली सर्दी (Cold) पड़ने लगी है। इससे लोगों का हाल बेहाल हो गया है। वहीं इस साल ऐसा लगता है कि दिल्ली और एनसीआर में सर्दी (Minimum Temperature in Delhi) का सारा रेकॉर्ड टूटने वाला है। दिल्ली (Delhi Weather News) के लोग इस बार नवंबर में ही दिसंबर जैसी ठंड का सामना कर रहे हैं। हैरानी की बात यह कि पिछले सात दशकों में सात बार ही नवंबर में शीत लहर चली है, वह भी केवल एक-एक दिन के लिए जबकि इस साल यह स्थिति तीन दिन की बन रही है।

"Delhi Weather Forecast News Update: मौसम विभाग ने अभी दो दिन और शीत लहर का दौर जारी रहने का पूर्वानुमान जारी कर दिया है। हैरानी की बात यह कि पिछले सात दशकों में सात बार ही नवंबर में शीत लहर चली है वह भी केवल एक-एक दिन के लिए।"

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर


दिल्ली में टूट रहे कई सालों के रेकॉर्ड
दिल्ली में नवंबर के दौरान आमतौर पर इतनी सर्दी कभी नहीं पड़ती, जितनी इस साल पड़ रही है। इस महीने के पहले पखवाड़े में न्यूनतम तापमान 14 से 15 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है। लेकिन इस बार एक नवंबर को ही ये 11.4 डिग्री सेल्सिस था और उसके तो बाद हर दिन नीचे गिरता रहा है। शुरुआती 20 दिनों में ही अनेक बार न्यूनतम तापमान 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ चुका है।

तापमान में भारी गिरावट की संभावना
स्काईमेट के अनुसार उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में दिन में कड़ाके की ठंड के साथ-साथ अब शीतलहर का प्रकोप बढ़ने वाला है। आगामी दिनों में न्यूनतम तापमान में भी भारी गिरावट होने की संभावना है। मौसमी गतिविधियां इसी सप्ताह नहीं बल्कि आगामी सप्ताह में भी बरकरार रहेंगी, क्योंकि 22 नवंबर के बाद एक नया और सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत के पहाड़ों पर फिर से दस्तक देने वाला है।

इन राज्यों में देखने को मिलेगा असर
दूसरी ओर वर्तमान सिस्टम के प्रभाव से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा और बारिश की गतिविधियां देखने को नहीं मिलेंगी। लेकिन 19 या 20 नवंबर से पहाड़ी क्षेत्रों से होकर आने वाली ठंडी उत्तर-पश्चिमी हवाओं के प्रभाव से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली समेत मैदानी राज्यों में तमाम जगहों पर तापमान में भारी गिरावट होगी और कई इलाके ऐसे होंगे जहां पारा 10 डिग्री से भी नीचे रिकॉर्ड किया जाएगा, जिससे कड़ाके की सर्दी जल्द ही मैदानी क्षेत्रों में भी देखने को मिलेगी।
Reactions