Kisan andolan: आखिर क्यों किसानों ने यूपी से दिल्ली जाने वाले सभी राष्‍ट्रीय राजमार्गों को जाम करने का किया था ऐलान ?

नोएडा,Nit. :
केंद्र सरकार के नए कृषि कानून के विरोध में पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों के किसानों ने गुरुवार को दिल्ली कूच किया। पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच संघर्ष भी हुआ। दिल्ली से सटे यूपी और हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस ने सख्ती दिखाई और सुरक्षा व्‍यवस्‍था सख्‍त रखी। दिल्ली से नोएडा आने वाली मेट्रो को भी बंद रखा गया। इस बीच, भारतीय किसान यूनियन (राकेश टिकैत ग्रुप) ने यूपी की तरफ से दिल्ली जाने वाले सभी राष्‍ट्रीय राजमार्गों को जाम करने का ऐलान किया है। शुक्रवार को सुबह 11 बजे से ईस्टर्न पेरिफेरल हाइवे जाम करने के लिए नोएडा के बीकेयू कार्यकर्ताओं ने पूरी रणनीति तैयार कर ली है। राकेश टिकैत ने कहा है कि केंद्रीय कृषि कानून के मसले पर वह पंजाब और हरियाणा के किसानों के साथ हैं।
गौतमबुद्ध नगर जिला अध्यक्ष अनित कसाना और मीडिया प्रभारी सुनील नागर ने बताया कि शुक्रवार को यूपी के हाइवे जाम किए जाएंगे। ईस्टर्न पेरिफेरल हाइवे पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद की जाएगी। सिरसा गांव के पास बीकेयू कार्यकर्ता ईस्टर्न पेरिफेरल हाइवे जाम करेंगे, जबकि दूसरी टीम हरियाणा की तरफ हाइवे जाम करेगी। ऐसे में हाईवे से गुजरने वाले कई राज्यों के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, यह हाइवे दिल्ली के ट्रैफिक को कम करने के लिए बनाया गया है। हरियाणा के कुंडली से यूपी होते हुए पलवल जाने वाले इस हाइवे का इस्तेमाल कई राज्यों के लोग करते हैं।
26 से 28 नवंबर तक ‘दिल्ली कूच’
बता दें कि नए कृषि कानून के विरोध में किसानों ने 26 से 28 नवंबर तक ‘दिल्ली कूच’ का फैसला लिया है। हालांकि, पुलिस और प्रशासन की तरफ से यूपी से दिल्ली जाने वाले सभी रास्तों पर बैरिकेड लगाकर सुरक्षा चाक-चौबंद रखी गई है। इसकी वजह से नोएडा से दिल्ली जाने वाले रास्तों पर वाहन रेंगते हुए नजर आए।
-एजेंसियां
Reactions