किसानों के भारत बंद को लेकर CM Yogi ने अधिकारियों से सतर्क रहने को कहा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसान आन्दोलन के मद्देनजर सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने सभी जिलों के प्रशासन को संवाद बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश में पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश के किसी भी क्षेत्र में सड़कों पर जाम न लगने पाए। मुख्यमंत्री योगी ने नोएडा, गाजियाबाद क्षेत्र में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री योगी ने यह निर्देश रविवार को उच्चस्तरीय बैठक में विभिन्न विभागों के कार्यों की समीक्षा के दौरान दिये। उन्होंने औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास आयुक्त आलोक टंडन को सभी जिलों में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके कामगार व श्रमिकों को रोजगार देने की स्थिति की समीक्षा करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लोगों को सरकारी व निजी क्षेत्र में रोजगार मुहैया कराने के लिए संकल्पबद्ध है। इसके लिए प्रदेश में संचालित विभिन्न योजनाओं के माध्यम से भी उन्हें स्वावलम्बी बनाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने एफपीओ स्थापित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए कृषि विभाग सक्रियता से कार्य करे।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि शीतलहर के दृष्टि सभी जरूरतमंदों को कम्बल वितरित किये जाएं। उन्होंने कहा कि शीत ऋतु में गरीबों और निराश्रितों को राहत पहुंचाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रत्येक जनपद में रैन बसेरों की व्यवस्था करायी गई है। प्रत्येक जिलें में प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित करे कि कोई खुले में न सोए। यदि कोई ऐसा दिखे तो उसे रैन बसेरे तक पहुंचाया जाए।
कोरोना संक्रमण के प्रसार पर लगातार नियंत्रण बनाये रखने की जरूरत
कोरोना संक्रमण के प्रसार पर लगातार नियंत्रण बनाये रखने की जरूरत पर जोर देते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ, वाराणसी, कानपुर और अयोध्या में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये। सीएम योगी ने अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा करते हुये रविवार को कहा कि कहा कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और सर्विलांस सिस्टम में कोई ढिलाई न बरती जाए। यही वह कड़ी है, जिससे कोविड-19 के प्रसार को रोकने में मदद मिली है।
उन्होंने लखनऊ, वाराणसी, कानपुर और अयोध्या में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कोविड अस्पतालों में सीनियर फैकल्टी चिकित्सकों को राउण्ड लेने के निदेर्श देते हुए कोविड अस्पतालों में हाई फ्लो नेजल कैन्युला (एचएनएफसी) की व्यवस्था को सुदृढ़ के लिए भी कहा। उन्होने कहा कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिये सभी कदम प्रभावी ढंग से लागू किए जाएं। लोगों को जागरूक बनाने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से इसकी रोकथाम तथा कोरोना प्रोटोकॉल के सम्बन्ध में निरन्तर जानकारी दी जाए।
लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिये प्रेरित किया जाए। साथ ही, उन्हें मास्क पहनने और सेनिटाइजेशन के सम्बन्ध में भी निरन्तर जानकारी दी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि विशेषज्ञ डॉक्टर कोविड वॉर्ड में नियमित राउण्ड लें। अस्पतालों में दवाओं, मेडिकल उपकरणों तथा ऑक्सीजन की पयार्प्त उपलब्धता रहे। यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग की प्रभावी व्यवस्था निरन्तर बनी रहे। इसके लिए प्रतिदिन पयार्प्त संख्या में आरटीपीसीआर तथा रैपिड एण्टीजन टेस्ट किये जाएं।
-एजेंसियां
Reactions