DTC की सारी बसों में अब शुरू होगा App से टिकट लेने का ट्रायल

नई दिल्ली, Nit. : 
डीटीसी की 128 बसों में चल रहा ई-टिकटिंग (कॉन्टैक्टलेस मोबाइल टिकट सिस्टम) का ट्रायल अब सभी 3760 बसों में शुरू होने जा रहा है। 17 फरवरी से नॉर्थ और ईस्ट रीजन के सारे बस डिपो की बसों में Chartr App के जरिए टिकट के साथ-साथ डेली पास की भी सुविधा शुरू हो जाएगी और उसके बाद 24 फरवरी से वेस्ट और साउथ रीजन की हर बस ई-टिकटिंग सिस्टम के दायरे में आएगी। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत द्वारा कॉन्टैक्टलेस मोबाइल टिकटिंग सिस्टम लागू करने के लिए बनाई गई टास्क फोर्स कमिटी की सिफारिशों के बाद डीटीसी ने अपनी सारी बसों में ई-टिकटिंग सिस्टम लागू करने का फैसला किया है।

14 सितंबर से शुरू हुआ था ट्रायल
डीटीसी की बसों में सबसे पहले पिछले साल 14 सितंबर 2020 को 29 बसों में कॉन्टैक्टलेस मोबाइल टिकट का ट्रायल शुरू किया गया और उसके बाद से यह ट्रायल जारी है। पांचवीं बार ट्रायल को बढ़ाया गया और 128 बसों में इसको लागू कर दिया गया। डीटीसी के डिप्टी सीजीएम (पीआर) डॉ. आर. एस. मिन्हास से जब डीटीसी के इस फैसले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अब डीटीसी की हर बस में यह ट्रायल शुरू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सितंबर-2020 से चल रहे ट्रायल के काफी अच्छे नतीजे सामने आए हैं और टास्क फोर्स कमिटी ने भी नतीजों की स्टडी की है। फरवरी के शुरुआती हफ्ते में कमिटी की मीटिंग में तय हुआ कि अब डीटीसी की 100 फीसदी बसों को ट्रायल के दायरे में लाया जाए। डॉ. मिन्हास ने कहा कि सभी बसों में क्यू आर कोड और पोस्ट लगा दिए जाएंगे, ताकि जनता को कोई परेशानी ना हो।

हर रीजन के लिए ट्रेनिंग शेड्यूल
जानकारी के मुताबिक, डीटीसी ने ट्रायल को लेकर हर रीजन में ट्रेनिंग शेड्यूल भी तैयार किया है। नॉर्थ में सुभाष प्लेस डिपो और ईस्ट में नंद नगरी डिपो में 11 फरवरी को ट्रेनिंग होगी। वेस्ट में मायापुरी डिपो और साउथ में वसंत विहार डिपो में अधिकारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। अब टिकट के साथ-साथ डेली बस पास भी मोबाइल ऐप से लिए जा सकते हैं। जिस तरह से मोबाइल फोन के जरिए ई-टिकट ले सकते हैं, उसी तरह से डेली पास भी हासिल किया जा सकता है। मौजूदा समय में डीटीसी की करीब 3760 बसें हैं, जो 557 से ज्यादा रूट्स पर चल रही हैं, जिनमें एनसीआर के 18 रूट्स भी शामिल हैं। इनमें से करीब 50 फीसदी बसों में ई-टिकटिंग ट्रायल 17 फरवरी से शुरू हो जाएगा और उसके बाद बची हुई 50 फीसदी बसों में 24 फरवरी से ट्रायल शुरू होगा। गूगल प्लेस्टोर पर चार्टर ऐप उपलब्ध है। ऐप डाउनलोड करने के बाद डिजिटल पेमेंट के जरिए टिकट ली जा सकती है।

हर बस में होगा क्यू आर कोड
डीटीसी अपनी हर बस में नए क्यू आर कोड लगा रही है। पोस्टर भी बस में हैं और स्टेप बाय स्टेप जानकारी दी गई है। यात्री बस में चढ़ने के बाद इस मोबाइल ऐप के माध्यम से ई-टिकट ले सकते हैं। यदि कोई उपयोगकर्ता टिकट का किराया जानता है, तो वह ऐप में BY FARE पर क्लिक कर सकता है और बस का क्यूआर कोड स्कैन करने के बाद भुगतान विकल्प के द्वारा भुगतान कर टिकट खरीद सकता है। यदि कोई उपयोगकर्ता रूट, सोर्स और गंतव्य को जानता है, तो वह BY DESTINATION पर क्लिक कर सकता है। बस रूट और सोर्स स्टॉप का चयन करने के बाद डेस्टिनेशन स्टॉप का चयन करना पड़ता है, फिर बस क्यूआर कोड को स्कैन कर के भुगतान करने के बाद टिकट प्राप्त किया जा सकता है।
Reactions