Kaimganj: संदिग्ध परिस्थितियों में तंबाकू के गोदाम में पड़ा मिला ग्रामीण शव

फर्रुखाबाद/कायमगंज, Nit. : बीती रात भाई के तम्बाकू गोदाम के बाहर चारपाई पर सो रहे ग्रामीण के पेट में गोली लगनें से मौत हो गयी। पुलिस नें मौके से एक तमंचा भी बरामद कर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

कायमगज कोतवाली क्षेत्र के गॉव अताईपुर जदीद मुहल्ला बरी निवासी जगराम उम्र 45 वर्ष पुत्र रामकिशन राजपूत घर से लगभग ढाई सौ मीटर की दूरी पर बने बड़े भाई मोतीलाल के तम्बकू के गोदाम के बाहर खाट पर लेटा था। बुधवार सुबह जगराम मृत अवस्था में पड़ा मिला। घटना की लिखित सूचना मृतक के भाई सुखराम ने ग्राम प्रधान पति नानिकराम के साथ कोतवाली पहुँचकर दी। उसने बताया कि उसके भाई जगराम ने बीमारी के चलते गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सूचना पाते ही उपनिरीक्षक सुहेल खान, उपनिरीक्षक मदनलाल प्रपल ने मौके पर पहुंचकर जांच पडताल शुरू की। मृतक की 12 वर्षीय भतीजी शीनू ने बताया कि उसने मृतक की खाट के नीचे से 315 बोर का तमंचा उठाकर अपने पिता मोतीलाल के तम्बाकू के गोदाम की बनी बाउन्ड्री पर रख दिया।

उपनिरीक्षक सुहेलखान, उपनिरीक्षक मदन लाल ने शीनू से तमंचा मांगा। तभी नवाब सिंह ने मृतक के बड़े भाई मोतीलाल के तम्बाकू के गोदाम की बाउन्ड्री से सफेद अंगोछे मे लिपटा तमंचा उठाकर उपनिरीक्षक सुहेल खान के सुपुर्द किया।
क्षेत्राधिकारी राजवीर सिह गौर, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संजय मिश्रा, कांस्टेबिल राहुल व ओमपाल सोनपाल के साथ मौके पर पहुँचकर जाँच पडताल की। उपनिरीक्षक सुहेल खान, उपनिरीक्षक मदनलाल प्रपिल ने शव का पंचनामा भरवाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। मृतक की शादी लगभग आठ वर्ष पूर्व कोतवाली क्षेत्र के गांव महमदीपुर चौकी कुआँखेडा निवासी कान्तादेवी से हुई थी। बीमारी के चलते लगभग दो वर्ष पूर्व कान्तीदेवी की मौत हो गई थी। मृतक तीन भाइयों में सबसे छोटा था। बड़ा भाई मोतीलाल दूसरा भाई सुखराम था। चर्चा के अनुसार मृतक विवाह करना चाहता था। मृतक का भाइयों से जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था।
Reactions