जिला पंचायत अध्यक्ष मोनिका यादव ने सुबोध यादव को कड़े लहजे में कहा mind your language

फर्रुखाबाद, Nit. : जिला पंचायत की पहली बैठक में अचानक वह हुआ जिसका किसी नें सोचा भी नही था। विरोधी पक्ष के सपा जिला पंचायत सदस्य सुबोध यादव की टोका-टांकी से खफा जिला पंचायत अध्यक्ष नें उन्हें कड़े लहजे में कह दिया कि ‘माइंड योर लैंग्वेज हेयर’। अध्यक्ष का कड़ा रुख चर्चा बटोर रहा है। 

दरअसल शपथ ग्रहण समारोह सम्पन्न होनें के बाद जिला पंचायत की पहली बैठक विकास भवन सभागार में आयोजित की गयी। जिसमे अध्यक्ष मोनिका यादव, सांसद मुकेश राजपूत, विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी, सुशील शाक्य आदि भाजपा बैठे थे। सपा से सुबोध यादव अपने समर्थित जिला पंचायत सदस्यों के साथ बैठक में पंहुचे। 

उनके ठीक सामने अध्यक्ष मोनिका यादव के भाई सचिन यादव भी सभागार में मौजूद थे। जिस पर सुबोध नें आपत्ति कर दी और कहा केबल जो सदस्य है वहीं बैठें अन्य लोग बाहर चले जाएँ। सुबोध नें कई बार यह दोहराया। जिस पर सांसद मुकेश राजपूत नें आपत्ति कर दी। सांसद नें सुबोध से कहा कि इतना बुरा क्यों बोल रहे हो संसदीय भाषा का प्रयोग करों। जिस पर सुबोध नें कहा कि हम यह कह रहे है जो सदस्य नही है वह बाहर जायें। इस पर जिला पंचायत अध्यक्ष मोनिका यादव का पारा चढ़ गया, उन्होंने कहा कि यह आप तय नही करेंगे (यू बिल नॉट डीसाइड) की सभा में कौन बैठेगा। जब तक आपसे कहा ना जाए तब तक आप नही बोलेंगे। वह बोली अपनी जुबान पर लगाम लगायें (‘mind your language’) जो नियम हम बतायें उसे सुनों। 

अपर मुख्य अधिकारी एनपी सिंह ने अध्यक्ष का समर्थन किया कि यह नियम है कि सभा में अध्यक्ष की अनुमति से ही कोई सदस्य अपनी बात रखेगा। भोजपुर विधायक नागेन्द्र सिंह राठौर नें भी सहमति दी।  जिसके बाद कार्यवाही शुरू हुई।  सीडीओ एम अरुनामोली ने भी कड़े लहजे में सुबोध यादव को शांत रहनें को कहा। 

फिलहाल जिला पंचायत अध्यक्ष मोनिका यादव नें यह दिखाया कि पद कोई भी हो लेकिन उस पर बैठनें वाले की शिक्षा बोलती है। सोमवार को जिला पंचायत अध्यक्ष को अंग्रेजी में बोलता देख लगा कि वर्षो बाद कोई शिक्षित युवा कुर्सी पर बैठा हैं। वहीं पूर्व के वर्षों में जो अध्यक्ष रहे वह एक कठपुतली से जादा कुछ भी नही थे। ना उन्हें किसी नें बैठक में बोलते सुना था। बैठक में मौजूद सभी लोगों ने जिला पंचायत अध्यक्ष मोनिका यादव की बात का समर्थन किया।

फर्रुखाबाद संवाददाता अब्दुल मुईद खान
Reactions