Salman Khursheed: किसी पद पर बल के दम पर बैठ जाना चुनाव नही- सलमान खुर्शीद

फर्रुखाबाद, Nit. : पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद नें शनिवार को सम्पन्न हुए व्लाक प्रमुख चुनाव को लेकर बड़ा वयान दिया है। उन्होंने कहा कि किसी पद पर बल के दम पर बैठ जाना चुनाव नही होता। 
शहर के लाल दरवाजे स्थित प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि इस समय पूरे भारत वर्ष में कोई दल यैसा नही जो मोदी सरकार का सामना करनें को तैयार हो। जो आगे है उन्हे ध्यान रखना होगा। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी नें सामना किया तो उन्हें बड़ी लड़ाई लडनी पड़ी। 

कोरोना नें हमारी सांसों पर ताले लगा दिये। उसने हमे एहसास कराया कि हम खुल कर साँस भी नही ले सकते। वहीं राजनीति नें भी हमे बता दिया कि हमारी सांसो पर ताले लगानें का प्रयास होगा। उन्होंने वर्तमान समय में हुए यूपी के व्लाक प्रमुख चुनाव को देखते हुए बड़ा वयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह चुनाव चुनाव नही होता जिसे बल के दम पर कब्जा किया जाये। खुर्शीद ने कहा कि वो इसे चुनाव नहीं मानते, सत्ता का दबदबा बनाये रखने के लिए साम, दाम, दंड भेद अपना कर भाजपा ने पंचायत अध्यक्ष में दबदबा जरूर बनाया है, लेकिन चुनाव में जनता ने भाजपा को नकार दिया है। उन्होंने कहा कि कोई भी तानाशाह जन्म से पैदा नहीं होता, वो हमारे बीच से ही लोकतंत्र की आंख में धूल झोंककर कर आता है। आने वाले चुनाव में जनता ही उसे सबक सिखाएगी। महंगाई के मुद्दे पर कहा कि भाजपा सरकार ने चंद पूंजीपतियों को फायदे पहुंचाने के लिए आम आदमी को महंगाई की आग में झोंक दिया है। कांग्रेस इसका सड़को पर पुरजोर विरोध दर्ज कराकर जनता के हितों की लड़ाई लड़ रही है और आगे भी लड़ती रहेगी। उन्होंने समान नागरिक कानून के बारे में कहा कि इस पर चर्चा होनी चाहिए। चर्चा से ही इसका हल निकलेगा। साथ ही कहा कि संविधान में ही सभी धर्मों को अपने-अपने नियम मानने का अधिकार है, सभी को स्वतंत्रता है कि वो अपने धर्म के कायदे कानून के अनुसार चले। हमारा देश विभिन्न धर्मों के साथ विभिन्न भाषाओं का देश है, इसलिए समान नागरिकता कानून को लाना इतना आसान नहीं है। इस पर चर्चा कर भारत सरकार अपनी दिशा तय करे।

पूर्व विधायक लुईस खुर्शीद ने कहा कि दिल्ली वर्ल्ड फाउंडेशन की ओर से जिलेभर में सभी मोहल्लों में प्राथमिक कोविड जांच सेंटर खोले जा रहे हैं। जिसमें एक ऑक्सीमीटर, थर्मल स्क्रीनिंग, मॉस्क, सेनेटाइजर आदि बुनियादी सुविधाएं उप्लब्ध है। किसी को भी कोविड संबंधित अंदेशा होने पर इन सेंटरों पर जाकर निःशुल्क जांच करा सकता है। इसके साथ ही बताया कि जल्द ही एक एम्बुलेंस जिले में मिलेगी जो कोविड मरीजों को अस्पताल ले जाने में लगाई जाएगी। लुईस खुर्शीद ने बताया कि फर्रुखाबाद से विधायक चुनाव लड़ने को वो इक्छुक है, पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया तो वो अवश्य चुनाव लड़ेंगी। इससे पूर्व दिल्ली वर्ल्ड फॉउंडेश की ओर फर्रुखाबाद प्रेस क्लब में संप्रेम भेंट की गई वॉटर कूलिंग मशीन का लुईस खुर्शीद व सलमान खुर्शीद ने फीता काटकर उद्घाटन किया। 

फर्रुखाबाद मंदिर में दर्शन कर मकबरा भी पहुंचे
पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने गुरुगांव देवी में माता के दर्शन कर तिलक लगवाकर आशीर्वाद लिया। इसके बाद नवाब बंगश के मकबरे पर पहुंचे। नवाब मोहम्मद खां बंगश वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष नवाब काजिम हुसैन और सेक्रेटरी हाजी अफजाल हुसैन ने बताया कि मकबरे पर हर साल 27 अगस्त को स्थापना दिवस मनाया जाता था। दो साल से पुरातत्व विभाग ने यहां कोई भी कार्यक्रम करने से रोक कर दिया। इस बार 27 अगस्त को फर्रुखाबाद का स्थापना दिवस मकबरे पर ही मनाया जाएगा। इसके बाद व्यापारी हाजी अहमद अंसारी के खटकपुरा स्थित निवास पर पहुंचे। सलमान खुर्शीद ने उनके भाई के निधन पर परिजनों को सांत्वना दी। 

शमसाबाद में मदरसे में की बैठक
पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुशी ने शमसाबाद कस्बा स्थित मदरसे में बैठक की। कोरोना महामारी की व्यवस्थाओं पर उन्होंने भाजपा को घेरा। गंगा में उतराती मिली लाशों के बारे में उन्होंने कहा कि यह मां गंगा के हित में नहीं है। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद व पूर्व विधायक लुईस खुर्शीद के राजनीतिक सलाहकार विजय कटियार, नगर अध्यक्ष पुन्नी शुक्ला, आराधना शुक्ला, अभय यादव, शकुंतला देवी, प्रदेश सचिव कौशलेन्द्र सिंह, हाजी वसीमुल जमां खां, शिवम तिवारी, हिलाल शफीकी, महिला जिलाध्यक्ष अनुपमा शर्मा, फरीद चुगताई आदि मौजूद रहे।

फर्रुखाबाद संवाददाता अब्दुल मुईद खान
Reactions