UP Ambulance strike: एंबुलेंस चालकों की हड़ताल के कारण गंभीर हालत में तड़पती रही प्रसूता

फर्रुखाबाद/कायमगंज, N.I.T. : कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के गांव अताईपुर कोहना निवासी नईम अपनी 38 वर्षीय प्रसूता पत्नी फरहा को प्रसव पीड़ा होने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कायमगंज लेकर गए। जहां भर्ती होने के बाद महिला ने एक पुत्र को जन्म दिया। महिला को दिन के लगभग 12:00 बजे अस्पताल लाया गया था। थोड़ी ही देर बाद जच्चा बच्चा की हालात खराब होने लगी। उसके पति का आरोप है कि यहां ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सक तथा स्टाफ के अन्य कर्मचारियों ने सही ढंग से न उपचार किया और ना हीं किसी प्रकार की सुविधा दी।  जिसके कारण उसकी पत्नी की हालत गंभीर हो गई। हालत गंभीर होने पर अस्पताल परिसर में मौजूद प्रसूता के परिजनों ने हंगामा काटा। इसके बाद महिला को आनन-फानन डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल फर्रुखाबाद के लिए रेफर कर दिया गया। 
किंतु एंबुलेंस चालकों की हड़ताल के कारण महिला को ले जाने के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। यह वेचारे किसी तरह व्यवस्था करके भाड़े के वाहन से लोहिया अस्पताल के लिए रवाना हो सके। बताते चलें बीते दिवस से एंबुलेंस चालक एवं ईएमटी की हड़ताल चल रही है जिसके कारण चालको ने एंबुलेंस का पहिया जाम कर रखा है। जिसके चलते लोगों को एंबुलेंस ना मिलने का कारण भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
(रिपोर्टर अमान खान)
Reactions