Kaimganj: भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपे

फर्रुखाबाद/कायमगंज, N.I.T. : भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी मुन्नालाल सक्सेना, दुर्गा नारायण मिश्रा, रागिब हुसैन खां, विनीत कुमार, प्रताप सिंह गंगवार, विजय सिंह शाक्य, रामवीर, दीपू पेंटर, कुलवंत सिंह, खुशीराम आदि नारेबाजी करते हुए तहसील परिसर में दाखिल हुए। जहां भाकियू नेताओं ने दो ज्ञापन, अलग-अलग प्रतियों में उप जिलाधिकारी की अनुपस्थिति में तहसीलदार प्रदीप कुमार को सौंपे।

जिसमें विद्युत विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा है कि अभी दो-तीन दिन पहले ही विद्युत विभाग विजिलेंस टीम ने पुलिस को साथ लेकर नगर के मोहल्ला कुकीखेल में विद्युत चोरी के नाम पर छापा डाला था। सुबह 4:45 बजे जब महिलाएं बच्चे अपने-अपने बिस्तर पर सो रहे थे। जिन्हें बिना किसी पूर्व सूचना तथा आवाज दिए ही विजिलेंस टीम मय पुलिस के घरों में उतर गई थी। जिससे बेसुध लेटी महिलाओं को भारी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। आपत्ति करने पर उन्हें हडकाया गया। कई जगह से मीटर उखाड़े तथा केविल काटी। यह सब कुछ टीम द्वारा उपभोक्ताओं के शोषण करने के लिए ही किया गया था। 

भाकियू ने कहा कि इस खेल के पीछे इनकी शोषण करने की नीति है, जैसा कि यह पहले से ही करते चले आ रहे हैं। आरोप है कि इसके बाद लिस्ट बनाकर एफआईआर तथा नोटिस की कार्यवाही करके यह लोग दलालों के माध्यम से उपभोक्ताओं का शोषण करते हैं। जो उपभोक्ता इनके द्वारा बताई गई रिश्वत देने से इनकार करता है। उसके ऊपर नियम के विपरीत जुर्माने की कार्यवाही की जाती है। भाकियू ने इस तरह किए जा रहे शोषण पर आपत्ति करते हुए समय रहते निष्पक्ष ढंग से जांच कराने एवं दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही किए जाने की मांग की है। 
वही दूसरे ज्ञापन में कहा गया है कि डेंगू बुखार गांव-गांव फैलने लगा है। मच्छरों की भरमार है। अतः हर गांव में छिड़काव कराया जाए। इस ज्ञापन में उन्होंने सरकारी अस्पताल कायमगंज गेट तथा इससे थोड़ा आगे जामा मस्जिद के पास टूटी हुई नाले की पुलिया जल्द सही कराने तथा मोहल्ला कुकी खेल में कई जगह खराब लाइटे सही कराने की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए नगर पालिका परिषद कायमगंज की इओ पर जनहित की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए नगर में व्याप्त कटखने बंदरों की समस्या, गंदे पेयजल की सप्लाई, मोहल्ला जवाहरगंज में बनाए गए शौचालयों में हमेशा ताले डाले रखने, वहीं इसी मोहल्ले की मार्केट में स्थित टूटी नाले की पुलिया जैसी समस्याओं की ओर पूर्व में भी कई बार लिखित रूप से अवगत कराने के बावजूद भी समस्याओं का निराकरण न कराए जाने का आरोप लगाया है। 

भाकियू ने कहा है कि यदि समय रहते जनहित की इसी तरह उपेक्षा की गई। तो उनका संगठन बड़े स्तर पर धरना प्रदर्शन के साथ ही आंदोलन करने को बाध्य होगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी शासन तथा प्रशासन की ही होगी।

रिपोर्टर अमान खान
Reactions