Kaimganj: चुनावी रंजिश को लेकर पूर्व प्रधान ने वर्तमान प्रधान पक्ष के लोगों को मारपीट कर किया गम्भीर लहूलुहान

फर्रुखाबाद/कायमगंज, N.I.T. : थाना मेरापुर के गांव वसई खेड़ा में खेत की मेड तथा चुनावी रंजिश को लेकर पड़ोसी गांव खोटा नगला निवासी पूर्व प्रधान व उसके परिजनों ने वर्तमान प्रधान पक्ष के चार लोगों को मारपीट कर बेहाल कर दिया।पीड़ित पक्ष ने बताया कि प्रदीप पुत्र महेश तथा सुरेशचंद पुत्र अहिवरन सिंह खेत पर काम कर रहे थे। उसी समय विरोधी पूर्व प्रधान अरविंद तथा देवेंद्र, श्यामपाल, वीरपाल, विजयपाल, हरवीर आदि लोग नाजायज अस्लाहों तथा लाठी-डंडों से लैस होकर वहां पहुंच गये। इन लोगों ने कई राउंड गोलियां दागते हुए इन दोनों को घेर कर बेरहमी से मारा पीटा।

घटना की सूचना मिलते ही घायल के परिजन महेश चंद व रतवीर सहित कुछ लोग घायलों को उठाने खेत पर पहुंचे। आरोप है कि पहले से ही झगड़ा कर रहे लोग सोची समझी चाल के तहत वही रूके हुए थे। जैसे ही यह लोग मौके पर पहुंचे। उन्हीं हमलावरों ने घेर कर फिर मारपीट शुरू कर दी। जिससे महेश तथा रतवीर भी घायल हो गए। ग्रामीणों ने किसी तरह इन्हें बचाया। किसी ने शोर मचाकर कहा कि भागो पुलिस आ रही है। पुलिस आने की बात सुनते ही हमलावर मौके से भाग गए। घायल पक्ष ने थाना पुलिस को सूचित किया।

सूचना मिलते ही पुलिस व क्षेत्राधिकारी सोहराब आलम एवं मेरापुर थाना पुलिस बल बड़ी संख्या में मौके पर पहुंचा। जहां उन्होंने घटना की जानकारी ली, सभी घायलों को उपचार एवं चिकित्सीय परीक्षण के लिए कायमगंज नगर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। वही सुरेश चंद्र पुत्र अहबरन सिंह, प्रदीप कुमार पुत्र महेश चंद्र व राजवीर सिंह पुत्र अहबरन सिंह, उक्त व्यक्तियों के साथ एक प्रधान पति व 5 अन्य लोगों द्वारा डॉ पर जबरदस्ती दबाव बनाने लगे कि सुरेश चंद्र की चोट को गन शॉट लिखें डॉक्टर द्वारा ऐसा ना किए जाने पर उनके साथ अन्य कर्मचारियों के साथ गाली-गलौज अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया तथा धक्का-मुक्की की गई। यहां से सभी घायलों को डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल फर्रुखाबाद के लिए रेफर कर दिया गया।
छोटी-छोटी बातों पर दबंग लोग मारपीट करने पर उतारू हो जाते हैं। वही यह घटनाएं गिरती कानून व्यवस्था के साथ ही पुलिस की निष्क्रियता की ओर भी इशारा कर रही हैं।

रिपोर्टर अमान खान
Reactions