दाऊद की कोई भी संपत्ति सनातन संस्था ने नहीं खरीदी: Chetan Rajhansh

मुंबई:

मुंबई ड्रग प्रकरण में अत्यधिक हीन स्तर की राजनीति हो रही है। उसमें आज नवाब मलिक ने स्वयं पर किए गए आरोपों के खुलासे के लिए सत्य न जानते हुए सनातन संस्था के नाम का अनुचित उपयोग किया है। दाऊद की कोई भी संपत्ति सनातन संस्था ने नहीं खरीदी है ।

सनातन संस्था के प्रवक्ता चेतन राजहंस ने कहा क‍ि  वास्तव में रत्नागिरी के समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों के अनुसार वह संपत्ति दिल्ली के एडवोकेट अजय श्रीवास्तव ने खरीदी है । उन्होंने उस स्थान पर छोटे बच्चों पर संस्कार करने के लिए ‘सनातन धर्म पाठशाला’ नाम का गुरुकुल आरंभ करने की घोषणा की है । सनातन संस्था और एडवोकेट अजय श्रीवास्तव का कोई भी संबंध नहीं है ।

इसलिए पर्याप्त जानकारी न रखते हुए सनातन संस्था के संदर्भ में इस प्रकार के झूठे आरोप कर नवाब मलिक स्वयं का मजाक न बनाएं । सनातन संस्था और दाऊद की एकत्रित चर्चा कर समाज में हिन्दू संस्थाओं के विषय में भ्रांति फैलाने का यह षड्यंत्र है । इस प्रकरण में नवाब मलिक को महाराष्ट्र सरकार समझाएगी, ऐसी हमारी अपेक्षा है ।

नवाब मलिक ने सनातन संस्था का नाम लेकर महाराष्ट्र के विरोधी दल के नेता देवेंद्र फडणवीस के आरोपों से बचने का प्रयास किया है । उन पर आतंकवादी अपराधियों से सीधे भूमि खरीदने का आरोप लगाया गया है । नवाब मलिक जिस दाऊद की भूमि का उल्लेख कर रहे हैं, वह भूमि केंद्र सरकार द्वारा जब्‍त कर उसकी नीलामी की गई । यहां ध्यान रखना चाहिए कि एडवोकेट श्रीवास्तव ने भी वह भूमि सीधे दाऊद से न खरीद कर सरकारी नीलामी के माध्यम से खरीदी है । इसलिए असत्य जानकारी के आधार पर स्वयं का दोष छुपाने का उनका प्रयास विफल हुआ है । इस विषय में सनातन संस्था के बारे में असत्य जानकारी फैलाने का प्रयास किए जाने पर विवश होकर हमें कानूनी कार्यवाही करनी पड़ेगी, ऐसा इस पत्रक द्वारा हम स्पष्ट कर रहे हैं ।

Reactions