Child Poronography CBI Raid: ऑनलाइन बाल यौन उत्पीड़न और शोषण के आरोप में उतर प्रदेश सहित 14 राज्यों में 77 स्थानों पर सीबीआई का छापा

नई दिल्ली, N.I.T. : केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ऑनलाइन बाल शोषण सामग्री से संबंधित अपराधों को लेकर राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत देश के 14 राज्यों में 77 स्थानों पर छापेमारी कर रही है। सीबीआई ने बताया कि ये कार्रवाई 14 नवंबर को 83 आरोपियों के खिलाफ दर्ज 23 अलग मामलों के संबंध में की है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार सीबीआई सूत्रों ने बताया कि एजेंसी ने अपनी इस कार्रवाई के दौरान विभिन्न सोशल मीडया प्लेटफॉर्म या समूहों के जरिए बाल यौन शोषण सामग्री को प्रसारित करने, सहेजने और देखने में कथित तौर पर शामिल रहने वाले 10 लोगों को हिरासत में लिया है।

आरोपियों ने सीबीआई टीम को घेरा:-
ओडिशा के ढेंकनाल में एक आरोपी से पूछताछ करने के दौरान कुछ महिलाओं और लाठी लिए युवकों ने पांच सदस्यीय सीबीआई टीम को घेर लिया। चूंकि सीबीआई ने इस अभियान के बारे में पहले से स्थानीय पुलिस को जानकारी नहीं दी थी इसलिए पुलिस को देर से टीम के फंसे होने की सूचना मिल पाई। बाद में जब पुलिस पहुंची तो उसे भी घटनास्थल तक जाने देने में बाधाएं डाली गईं। बाद में पुलिस टीम सीबीआई अधिकारियों को वहां से निकालने में सफल रही। संबंधित आरोपी को सीबीआई अपने साथ ले गई।

400 से अधिक अधिकारी शामिल हुए छापेमारी में:-
मंगलवार की सुबह से ही देश के अलग-अलग हिस्सों में 400 से अधिक सीबीआई अधिकारियों को आरोपियों के ठिकानों पर धावा बोलने के लिए तैयार रखा गया था। शीर्ष स्तर से छापे की अनुमति मिलते ही पूरे देश में एक साथ 77 जगहों पर इन अधिकारियों ने धावा बोला।

इन 14 राज्यों में छापेमारी को अंजाम दे रही है सीबीआई:-
सीबीआई के प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया कि यह छापेमारी आंध्र प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, बिहार, ओडिशा, तमिलनाडु, राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और हिमाचल प्रदेश में की जा रही है। छापेमारी का अभियान समन्वित तरीके से चलाया जा रहा है।

एजेंसी ने बताया कि आरोप लगाया गया था कि देश के विभिन्न हिस्सों और विदेशों में कुछ लोग और गिरोह बाल यौन शोषण सामग्री देखने, उसे सहेजने और प्रसारित करने के काम में संलिप्त थे। ये लोग इस काम के लिए विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और समूहों का इस्तेमाल कर रहे थे।

सबसे अधिक यूपी के शहर:-
उत्तर प्रदेश में कोंच जालौन, मऊ, चंदौली, वाराणसी, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, मुरादाबाद, नोएडा, झांसी, गाजियाबाद, मुजफ्फरनगर। आंध्र प्रदेश में तिरुपति और कनेकल। दिल्ली में भी छापेमारी। गुजरात में जूनागढ़, भावनगर, जामनगर में आरोपियों के ठिकाने पर छापा पड़ा। इसके अलावा, पंजाब के संगरूर, मलेरकोटला, होशियारपुर और पटियाला। बिहार में पटना और सिवान। हरियाणा में यमुनानगर, पानीपत, सिरसा, हिसार। ओडिशा में भद्रक, जाजापुर और ढेंकनाल। तमिलनाडु में तिरुवल्लुर, कोयंबटूर, नमक्कल, सलेम और तिरुवन्नामलाई। राजस्थान में अजमेर, जयपुर, झुंझनू और नागौर। मध्य प्रदेश में ग्वालियर। महाराष्ट्र में जलगांव, सलवाड और धुधुल। छत्तीसगढ़ में कोरबा और हिमाचल प्रदेश में सोलन में भी छापेमारी हुई है।

100 से अधिक देशों के नागरिकों की हो सकती है संलिप्तता:-
सीबीआई ने कहा कि शुरुआती तौर पर पता चला है कि इसमें 100 देशों से अधिक के नागरिकों की संलिप्तता हो सकती है। सीबीआई अपनी सहयोगी एजेंसियों के साथ औपचारिक और अनौपचारिक माध्यमों से समन्वय कर रही है। छापेमारी अभी जारी है और इसमें और मोड़ भी आ सकते हैं।

अभी तक की छापेमारी के दौरान सीबीआई ने कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, मोबाइल और लैपटॉप आदि जब्त किए हैं। यह पता चला है कि कुछ लोग बाल यौन शोषण सामग्री को बेचने के काम में भी संलिप्त थे। एजेंसी ने कहा कि हम अभी जांच कर रहे हैं और मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी।
Reactions