Kaimganj: छापेमार टीम ने खाद गोदाम पर मारा छापा किया सील

फर्रुखाबाद/कायमगंज, N.I.T. : प्राइवेट उर्वरक विक्रेता एक ओर जहां बड़े पैमाने पर मिलावटी करके या फिर नकली खाद मंगाकर निर्धारित से काफी अधिक कीमत पर बेच रहे हैं। खाद की कालाबाजारी तथा भारी कमी के समाचार मीडिया में प्रमुखता से पिछले कई दिनों से प्रकाशित किए जा रहे हैं। जिसका संज्ञान लेकर प्रशासन ने आज पूरे जिले में अलग-अलग टीमें गठित कर छापामार अभियान चलाने के निर्देश दिए।

इसी निर्देश के तहत आज कायमगंज में डिप्टी डायरेक्टर कृषि विभाग राज कुमार तथा नायब तहसीलदार सनी कनौजिया की टीम ने नई बस्ती रोड पर पहुंचकर मोहल्ला कुकी खेल निवासी खाद विक्रेता अली ज़मां खां की नई बस्ती रोड स्थित दुकान पर छापा मारकर अभिलेख देखे। इस दुकान पर केवल यूरिया खाद ही उपलब्ध थी। बोरियों की गिनती कराने के बाद उपलब्ध स्टॉक बिक्री तथा अवशेष स्टाक एवं बिलो की जांच की गई। यहां टीम को सब कुछ ठीक-ठाक मिला।

इसके तुरंत बाद छापामार टीम ने नगर के मोहल्ला गंगादरवाजा स्थित शिव शक्ति फर्म प्रोपराइटर सुधीर तथा इन्हीं के भाई महेश चंद की नेशनल फर्म पर छापा मारा। इन दोनों खाद विक्रेताओं के यहां काफी मात्रा में स्टॉक गोदामों में रखा जाता है। वही सेल प्वाइंट [दुकान] से फुटकर बिक्री की जाती है। छापामार टीम ने इन दोनों फर्मो से दो सैंपल डीएपी तथा एक सैंपल पोटाश का लेकर लैब में जांच के लिए भेजने की औपचारिकता पूरी की।

यहां छापामार टीम ने गोदामों में भरी खाद की बोरियों की गिनती करनी चाही। किंतु बोरियों की छल्ली सही ढंग से न लगे होने के कारण गिनती नहीं हो सकी। छापामार टीम ने उपलब्ध स्टॉक बिक्री से संबंधित बिल दिखाने के लिए कहा किंतु उर्वरक विक्रेता विल नहीं दिखा सके। उन्होंने केवल मोबाइल पर माल डिस्पैच होने का मैसेज दिखा कर छापामार टीम को संतुष्ट करने का प्रयास किया। 

परंतु मिली तमाम अनियमितताओं के कारण टीम ने इन दोनों फर्मो की गोदाम सील कर दिए। जिस समय छापामार टीम विक्रेताओं के यहां छापेमारी कर रही थी। उसकी सूचना पूरे नगर तथा आसपास के ग्रामीण इलाके तक के विक्रेताओं को मिल गई। सूचना मिलते ही खाद विक्रेताओं में भगदड़ मच गई। वह अपनी-अपनी दुकानें तथा गोदामें धड़ाधड़ बंद करके मौके से भाग गए।

(रिपोर्टर अमान खान)
Reactions