UP-TET का पर्चा लीक होने से 21 लाख छात्रों के साथ धोखा

प्रयागराज, N.I.T. : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET) 2021 का पर्चा लीक होने की वजह से परीक्षा रद्द कर दी गयी है। यह पर्चा सोशल मीडिया पर गाजियाबाद, मथुरा, बुलंदशहर में वायरल हो रहा था। छात्रों में गुस्साए भरा हुआ है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देवरिया में इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अब तक 23 दोषी पकड़े गए हैं और किसी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा, 'सरकार इस मामले में सख्त है। इनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। जरूरत पड़ी तो बुलडोजर भी चला जाएगा।'

उत्तरप्रदेश के एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया है कि पूरे प्रदेश से 23 लोगों को पकड़ा गया है। इनके फोन से पेपर शेयर हो रहे थे। इसमे कुछ चिह्नित सॉल्वर गैंग के सदस्य हैं। पश्चिमी यूपी के कई जिलों में धरपकड़ चल रही है। पेपर कैंसिल कर दिया गया है।

हालांकि, छात्रों को उनके गंतव्य तक जाने के लिए सरकार ने मुफ्त साधन उपलब्ध कराए हैं। रोडवेज बस में वे केवल अपना एडमिट कार्ड दिखाकर घर तक मुफ्त जा सकते हैं।

कभी सोचिएगा कि आपको जाड़े की रात ऐसे गुजारनी पड़ी हो और सुबह पता चले कि परीक्षा ही रद्द हो गयी।

सुबह परीक्षार्थियों को पता चला की परीक्षा निरस्त कर दी गई उत्तर प्रदेश सरकार की बहुत बड़ी लापरवाह हुई उजागर
रात भर सर्दी में अन्य जनपदों के परीक्षार्थियों ने ऐसे गुजारी थी रात

एसटीएफ ने मेरठ से इन तीनों को गिरफ्तार किया है। मनीष उर्फ मोनू, रवि कांधला और धर्मेंद्र ये तीनों शामली के रहने वाले हैं। ये तीनों पेपर के साथ गिरफ्तार हुए हैं।
एसटीएफ ने शामली जिले से तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। एक युवक को मेरठ से गिरफ्तार किया है। प्रयागराज से दो युवकों को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी के अनुसार यह पेपर फोटो खींचकर मोबाइल पर वायरल किया गया। प्रयागराज में ने सॉल्वर गैंग के 20 से अधिक युवकों को अलग-अलग स्थानों से हिरासत में लिया है।

पर्चा रद्द होने की जानकारी 10 बजे के बाद उस समय सामने आई जब छात्रों को परीक्षा हाल में पेपर बंट चुका था। वे अनेक सवालों के जवाब ओएमआर शीट में भर चुके थे। बीच परीक्षा में उन्हें बताया गया कि परीक्षा कैंसिल कर दी गई है। हालांकि, कई सेंटर्स पर परीक्षा रद्द होने की जानकारी नहीं पहुंची है।
शिक्षा मंत्री बोले- महीने भर बाद होगी परीक्षा:-
यूपी के शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी का कहना है कि पेपर लीक की सूचना पर दोनों पालियों की परीक्षा तत्काल प्रभाव से निरस्त की जा रही है। पुनः एक महीने के भीतर अभ्यर्थियों से बिना कोई शुल्क लिए परीक्षा कराई जाएगी। एसटीएफ पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। अभ्यर्थियों को दोबारा फीस नहीं देनी होगी। इस बार UP-TET में 21 लाख 65 हजार अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। छात्रों का कहना है कि सरकार इतनी बड़ी परीक्षा में फेल रही है। ये छात्रों के साथ धोखाधड़ी है।

TET की परीक्षा दो पालियों में होनी थी। पहली पाली में सुबह 10 से 12.30 बजे के बीच प्राथमिक स्तर और दूसरी पाली में दोपहर 2.30 से 5 बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा होनी थी। पहली पाली में 2554 केंद्र और दूसरी के लिए 1754 केंद्र बनाए गए थे। प्राथमिक स्तर में 1291628 और जूनियर स्तर में 873553 अभ्यर्थी को शामिल होना था।

पहली बार लाइव CCTV सर्विलांस की व्यवस्था थी, लेकिन....
TET में पहली बार लाइव CCTV सर्विलांस की व्यवस्था की गई थी। इसका मकसद हर हाल में बिना नकल के परीक्षा कराना था, हालांकि इस दावे की धज्जियां महज घंटे भर के अंदर उड़ गईं। इसे हर परीक्षा केंद्र पर एक्टिव किया गया था। इसकी मॉनिटरिंग लखनऊ में हो रही थी।

दावा किया गया था कि यदि किसी भी परीक्षा केंद्र पर किसी तरह की गड़बड़ी की गई तो वह फौरन पकड़ में आ जाएगी। हालांकि, इस सब से पहले ही परीक्षा का पर्चा लीक होने से उसे कैंसिल करना पड़ा।

एक नजर यूपी TET पर:-
•उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) 2021 के लिए ऑनलाइन आवेदन 7 अक्टूबर 2021 से आमंत्रित किए गए थे।

•इसमें पंजीकरण की अंतिम तिथि 25 अक्टूबर थी।

•प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा को मिलाकर कुल 21,65,181 अभ्यर्थियों को शामिल होना था।

•2019 में आए थे 16 लाख आवेदन, कोरोना महामारी के कारण 2020 में एग्जाम नहीं हुआ।

•पहली बार 12 नवंबर 2011 को यूपी में TET कराई गई थी।

लीक हुए पेपर देखें👇🏻
Reactions