Fire in train bogie: फर्रुखाबाद कासगंज पैसेंजर ट्रेन की बोगी में लगी भीषण आग, फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने आग पर काबू पाया, यात्री घायल नहीं हुआ

फर्रुखाबाद, N.I.T. : कासगंज से रविवार देर रात करीब तीन बजे फर्रुखाबाद आ रही पैसेंजर ट्रेन में फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन से चार किलोमीटर पहले हथियापुर गांव के पास कासगंज-फर्रुखाबाद पैसेंजर ट्रेन में आग लग गई।

कासगंज से फर्रुखाबाद आ रही पैसेंजर ट्रेन में देर रात आग लगने से खलबली मच गई। पैसेंजर ट्रेन में इंजन के बाद की तीसरी बोगी में आग लगने से घबराए कुछ यात्री चलती ट्रेन से कूदने लगे। ट्रेन की दो बोगियों में धुंआ भरने के कारण आग की जानकारी हुई। फर्रुखाबाद में फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने आग पर काबू पाया। इस दौरान कोई भी यात्री चोटिल नहीं हुआ।

कासगंज से रविवार देर रात करीब तीन बजे फर्रुखाबाद आ रही पैसेंजर ट्रेन में फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन से चार किलोमीटर पहले हथियापुर गांव के पास कासगंज-फर्रुखाबाद पैसेंजर ट्रेन में आग लग गई। यात्रियों के शोर मचाने पर लोको पायलट ने सूझबूझ दिखाकर गांव के पास क्रासिंग से पहले ही ट्रेन रोकी। आग आगे न बढ़े इसके लिए लोको पायलट ने ग्रामीणों और यात्रियों की मदद से लपटों से घिरी बोगी को अलग कराया और कंट्रोल रूम को सूचना दी।
इसके बाद दमकल की दो गाडिय़ों ने पहुंचकर आग बुझाने के प्रयास शुरू किए। एसपी अशोक कुमार मीणा के मुताबिक कोई हताहत नहीं हुआ है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दूसरी बोगियों से कुछ यात्री कूदे थे। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। कासगंज से फर्रुखाबाद के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन 05389 रात में 09:15 बजे चलती है और 11:40 बजे फर्रुखाबाद पहुंचती है। ट्रेन में सवार यात्री सुशील कुमार ने बताया कि ट्रेन काफी देरी से चल रही थी। शमसाबाद से निकलने के बाद ट्रेन की बोगियों में धुआं आना शुरू हो गया था। पहले तो कुछ समझ में न आने से नजरंदाज करते रहे। जब सांस लेने में परेशानी होने लगी तो खिड़की और दरवाजे खोलकर देखा। इंजन के पीछे तीसरी बोगी से आग की लपटें निकल रही थीं। इस पर सवारियों ने शोर मचाना शुरू किया। इधर बर्निंग ट्रेन बनकर ट्रैक पर दौड़ रही ट्रेन देख लिए ग्रामीण भी निकल आए।
लोको पायलट ने भीड़ दौड़ती देखकर गाड़ी रोकी तो उन्हें आग की लपटें नजर आईं। जिस पर उन्होंने ट्रेन रोकने के बाद ग्रामीणों की मदद से फर्रुखाबाद की ओर इंजन और दो बोगियों को काटा गया। वहीं पीछे की नौ बोगियों को भी काट कर अलग किया गया। जिस पर ट्रेन में सवार यात्री जान बचाने के लिए खड्ड में कूदने लगे। लोको पायलट की सूचना पर मऊ दरवाजा थाना का फोर्स, आरपीएफ इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार, जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह, एसपी फर्रुखाबाद अशोक कुमार मीणा घटनास्थल पहुंचे। दमकल की दो गाड़ियों ने पहुंचकर आग बुझाई। एसपी ने बताया कि फिलहाल कोई हताहत नहीं हुआ है। घटना के बाद कासगंज से दुर्घटना राहत ट्रेन पहुंची। जली हुई बोगी को भी शमसाबाद ले जाया गया।
Reactions