Nizamuddinpur Urs-e-Mela: मेला प्रभारी की मौजूदगी में सकुशल संपन्न हुआ उर्स-ए-मेला, कव्वालियों से गूंजी दरगाह

कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों पर लॉकडाउन लगा दिया था, जिसके कारण सन् 2020 व 21 पिछले दो सालों से दरगाह में कव्वालियां बंद थीं।

दो साल बाद शुरू हुआ हजरत नागा शाह वली रहमतुल्लाह अलेही का उर्स-ए-मेला कुल शरीफ के साथ समापन हुआ, कव्वालियों से गूंजी दरगाह

आमिर खान, फर्रुखाबाद/कम्पिल, N.I.T, यूपी के जनपद फर्रुखाबाद के कम्पिल क्षेत्र के गांव निजामुद्दीनपुर (नागा सैयद) में उर्स-ए-मेला सुकून के साथ सकुशल संपन्न हुआ। 
26 मार्च मिलाद शरीफ:-
हजरत नागा शाह वली रहमतुल्लाह अलेही की दरगाह में 26 मार्च से उर्स-ए-मेला शुरू हुआ। 26 मार्च बाद नमाजे इशा मिलाद शरीफ हुआ। जिसमें गाँव की मस्जिद के मोलाना शाहिद रजा, भरगैन से आएं हाफिज खुशनवाज, मोलाना अजीमुद्दीन, कायमगंज से मोलाना अब्दुल खुद्दुस, तशरीफ लाएं। जिसमें नाते पाक व तकरीर के साथ मिलाद शरीफ हुआ। मिलाद शरीफ में मेला प्रभारी मंगल सिंह एवं प्रशासन जगह-जगह मुस्तैद रही। 

सन् 1993 में दरगाह शरीफ पर पहला उर्स-ए-मेला हुआ था, जिसमें एटा के कव्वाल जमील शकील व इनके वालिद (पिताजी) तशरीफ लाए थे, इन को टक्कर देने दरगाह पर पहली बार कानपुर से रेडियो व टीवी सिंगर शरीफ परवाज तशरीफ लाए थे, सन् 2019 में कानपुर से रेडियो व टीवी सिंगर शरीफ परवाज और दिल्ली से राष्ट्रीय पुरस्कार सम्मानित कव्वाल चांद कादरी तशरीफ लाए थे। इसके बाद सन 2020 व 21 में कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों पर लॉकडाउन लगा दिया था, जिसके कारण पिछले दो सालों से दरगाह में कव्वालियां बंद थीं। कोरोना वायरस खत्म होते ही 27 मार्च 2022 को दरगाह शरीफ पर कव्वालियों का आगाज फिर शुरू हुआ। 
27 मार्च हजरत नागा शाह वली रहमतुल्ला अलेह की मजार शरीफ के सज्जादा नशीन फूल मियां ने दोपहर 2 बजे बादनमाजे जोहर पूरे गांव में घागर निकाली। 
कम्पिल के समाजसेवी व सपा नेता रावेज खां उर्फ बंटी ने हर बार की तरह इस बार भी मजार शरीफ में दाल रोटी का लंगर किया। 
कव्वालियों का आगाज शुरू होने से पहले गांव के मौजूदा पति प्रधान उम्मीद खां, सपा नेता रावेज खां उर्फ बंटी, दरगाह शरीफ के सज्जादा नशीन फूल मिंया, मंच संचालन उवैस आलम, सफीक आलम, प्यारे मिंया, वारिस, दिलदार, रिपोर्टर आमिर खान, इख्तियार खां उर्फ़ पप्पू दिल्ली वाले, कमेटी सदर जाहिद खान उर्फ जद्दू, कमेटी अध्यक्ष अकबर खान, सेक्रेटरी गुच्छन मिस्त्री इन सभी ने कमलाईपुर प्रधान व चेयरमैन उम्मीदवार मुकेश यादव का स्टेज पर माल्यार्पण कर जोरदार स्वागत किया। 
चेयरमैन उम्मीदवार मुकेश यादव ने कहाँ कि अगर मैं चेयरमैनी जीतता हूं तो जीतने के बाद उर्स मेले का खर्च पूरा मेरा होगा। मुकेश यादव ने मजार शरीफ पर चादर पोशी भी की। 
इसी के साथ मेला कमेटी के मेंबरानो ने कम्पिल थानाध्यक्ष व मेला प्रभारी एवं पुलिस प्रशासन का माल्यार्पण कर जोरदार स्वागत किया।
हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल:-
इस बार हजरत नागा शाह वली रहमतुल्लाह अलेही की दरगाह पर एटा से आएं कव्वाल जमील शकील व इनका बेटा फैजान रजा अजमेरी ने अपनी मधुर आवाज से कव्वालियों का आगाज शुरू किया। वही दूसरे कव्वाल नैनीताल (बहेड़ी) से आएं हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल युसूफ मलिक जो अपनी गजलें व अन्य सुफियाना कलाम गाकर लोगों का दिल जीता। और महफिल में चारचांद लगाएं। हजरत नागा शाह वली रहमतुल्लाह अलेही की मजार शरीफ पर दूरदराज़ से आए लोगों ने गुलपोशी व चादर पोशी और अपनी मुरादों का पूरी रात सिलसिला जारी रखा। 
28 मार्च को सुबह लगभग 6:00 बजे करीब हजरत नागा शाह वली रहमतुल्ला अलेही की दरगाह शरीफ पर कुल शरीफ हुआ। इसके साथ ही उर्स-ए-मेला मुकम्मल संपन्न हुआ। 
उर्स-ए-मेले का मशहूर खानपान व बच्चों के खेल खिलौने और झूले:-
हर बार की तरह इस बार भी उर्स-ए-मेले में दूरदराज से आए लोगों ने शाहजाहपुर से आएं नियाजी होटल वालों का हलवा पराठा, खजला, सोनपापडी के लुफ्त के साथ-साथ चाट पकोड़े, व अन्य खानपान की चीजों का लुफ्त लोगों ने लिया। इसके साथ-साथ बच्चों के लिए खेल खिलौने भी खरीदे। 
उर्स-ए-मेले में लगे कानपुर से आए सलीम भाई के झूले जैसे कि जंपिंग झूला, नैनो झूला, मिकी माउस, ड्रैगन ट्रेन, काला जादू, ब्रेक डांस झूला, एवं आसमानी झूले का लोगों ने आनंद लिया। दूरदराज से आने वाले अकीदत मंदो के लिए उर्स-ए-मेले के पंडाल में बैठने का पुख्ता इंतजाम किया गया था। 
हजरत नागा शाह वली रहमतुल्ला अलेही के उर्स-ए-मेले में जगह-जगह शक्ति के साथ पुलिस प्रशासन मय फोर्स के साथ मुस्तैद रहा। 

मेला प्रभारी मंगल सिंह, दरोगा रघुवीर सिंह गोयल, उदय सिंह, कलपेश सिंह चौधरी, ने सकुशल मेला संपन्न कराया जिस पर उर्स कमेटी एवं आसपास के संभ्रांत नागरिकों द्वारा मेला प्रभारी एवं पुलिस प्रशासन की प्रशंसा की गई। 
कम्पिल निजामुद्दीनपुर (नागा सैयद) से आमिर खान की रिपोर्ट
Reactions