Samauddinpur Urs-e-Mela: अंजाने मियां रहमतुल्ला अलेही की मजार शरीफ पर कव्वालियों का हुआ आगाज, अगले साल की तारीख बदलीं

•मेला प्रभारी की मौजूदगी में सकुशल संपन्न हुआ उर्स-ए-मेला, कव्वालियों से गूंजी दरगाह

•उर्स मेला कमेटी के मेंबरानो ने अगली साल सन् 2023 में होने वाली कव्वालियों की तारीख बदलीं

आमिर खान, फर्रुखाबाद/कम्पिल, N.I.T. कम्पिल क्षेत्र के गांव समाउद्दीनपुर (समोदिया) में उर्स-ए-मेला सुकून के साथ सकुशल संपन्न हुआ। 

28 मार्च जलसा:-
हजरत अंजाने मियां रहमतुल्लाह अलेही की दरगाह शरीफ पर 28 मार्च से उर्स-ए-मेला शुरू हुआ। 28 मार्च जलसा हुआ जिसमें नाते पाक व तकरीर के साथ जलसा हुआ। जलसे में मेला प्रभारी उदय सिंह एवं प्रशासन जगह-जगह मुस्तैद रही। 

दो साल पहले उर्स मेला व कव्वालियों का आगाज हुआ था, इसके बाद सन 2020 व 21 में कोरोनावायरस के चलते भारत सरकार ने सभी धार्मिक स्थलों पर लॉकडाउन लगा दिया था, जिसके कारण पिछले दो सालों से दरगाह में कव्वालियां बंद थीं। कोरोना वायरस खत्म होते ही 28 मार्च 2022 को दरगाह शरीफ पर उर्स-ए-मेला व कव्वालियों का आगाज फिर शुरू हुआ। 

28 मार्च हजरत अंजाने मिंया रहमतुल्ला अलेह की मजार शरीफ के सज्जादा नशीन मोहम्मद तौफीक ने जलसा कराया। 29 मार्च कव्वालियों का आगाज शुरू हुआ। 
कव्वालियों का आगाज शुरू होने से पहले गांव के मौजूदा पति प्रधान कमेटी अध्यक्ष अजहर, सेक्रेटरी नगमूल हसन एवं मेला कमेटी मेंबरानो ने कम्पिल के समाजसेवी व सपा नेता रावेज खां उर्फ बंटी भाई का स्टेज पर माला डालकर जोरदार स्वागत किया। समाजसेवी रावेज खां उर्फ़ बंटी ने मजार शरीफ पर चादर पोशी व गुलपोशी भी की। 
इसी के साथ मेला कमेटी के मेंबरानो ने कम्पिल थाने के मेला प्रभारी एवं पुलिस प्रशासन का माल्यार्पण कर जोरदार स्वागत किया।

मेला कमेटी अध्यक्ष अजहर, सेक्रेटरी नगमुल हसन व दरगाह शरीफ के सज्जादा नशीन मोहम्मद तौफीक एवं मेला कमेटी मेंबरानो ने बताया कि आने वाले अगले साल सन् 2023 में ईद-उल-फितर के दिन जलसा होगा। ईद के अगले दिन कव्वालियों का आगाज होगा। 
अंजाने मिंया रहमतुल्ला अलेही की मजार पर आएं कव्वाल:-
इस बार हजरत अंजाने मिंया रहमतुल्लाह अलेही की दरगाह शरीफ पर बदायूं से आएं कव्वाल हासिफ सुल्तानी ने अपनी मधुर आवाज से कव्वालियों का आगाज शुरू किया। वही दूसरे कव्वाल नागपुर से आएं साजिद सुल्तानी ने सुफियाना कलाम व गानों की पलट गाकर लोगों का दिल जीता। और महफिल में चारचांद लगाएं। हजरत अंजाने मिंया रहमतुल्लाह अलेही की मजार शरीफ पर दूरदराज़ से आए लोगों ने गुलपोशी व चादर पोशी और अपनी मुरादों का पूरी रात सिलसिला जारी रखा। 

30 मार्च को सुबह लगभग 5:00 बजे करीब हजरत अंजाने मिंया रहमतुल्ला अलेही की दरगाह शरीफ पर कुल शरीफ हुआ। इसके साथ ही उर्स-ए-मेला मुकम्मल संपन्न हुआ। 
उर्स-ए-मेले का मशहूर खानपान व बच्चों के खेल खिलौने और झूले:-
हर बार की तरह इस बार भी उर्स-ए-मेले में दूरदराज से आए लोगों ने हलवा पराठा, सॉफ्टी, चाट पकोड़े, व अन्य खानपान की चीजों का लुफ्त लिया। इसके साथ-साथ बच्चों के लिए खेल खिलौने भी खरीदे। मेले में आए लोगों ने झूले का आनंद लिया। दूरदराज से आने वाले अकीदत मंदो के लिए उर्स-ए-मेले के पंडाल में बैठने का पुख्ता इंतजाम किया गया था। 

हजरत अंजाने मिंया रहमतुल्ला अलेही के उर्स-ए-मेले में जगह-जगह शक्ति के साथ पुलिस प्रशासन मय फोर्स के साथ मुस्तैद रहा। 
मेला प्रभारी उदय सिंह, दरोगा मंगल सिंह, दरोगा कलपेश सिंह चौधरी, दरोगा यतेंद्र ने सकुशल मेला संपन्न कराया। जिस पर उर्स कमेटी एवं आसपास के संभ्रांत नागरिकों द्वारा मेला प्रभारी एवं पुलिस प्रशासन की प्रशंसा की गई। 

कम्पिल समाउद्दीनपुर (समोदिया) से आमिर खान की रिपोर्ट
Reactions