Uniform civil cod: यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के लिए संत बनाएंगे अब सरकार पर दबाव, 04 जून से अयोध्‍या में शुरू होने जा रहा है विशाल संत सम्‍मेलन

अयोध्या, Nit: अयोध्या में यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू किए जाने को लेकर बहस तेज हो गई है। एक तरफ सहारनपुर के देवबंद में जमीयत उलेमा ए हिंद की दो दिवसीय बैठक में समान नागरिक संहिता का विरोध करने और शरीयत से छेड़छाड़ न किए जाने का प्रस्ताव पास किया गया है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष और मणिराम दास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मोत्सव पर होने वाले महायज्ञ और संत सम्मेलन में देश में समान नागरिक संहिता लागू करने के संत सरकार पर दबाव बनाने का निर्णय लिया गया है। यह जानकारी मणिराम छावनी मठ के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने दी है। महंत कमल नयन दास ने बताया कि महंत नृत्यगोपाल दास की 84वें जन्मोत्सव का कार्यक्रम 4 जून से शुरू होकर 13 जून तक चलेगा। इसमें रामनाम महायज्ञ, संत सम्मेलन, भंडारा और अन्य कई कार्यक्रमों का आयोजन होगा। श्रीराम कथा विशाल संत सम्मेलन समेत कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारी अभी से चल रही है। 4 जून से ही कार्यक्रम शुरू हो जाएंगे। महंत नृत्य गोपाल दास का 84 वां जन्मोत्सव समारोह के उद्घाटन कार्यक्रम में पूर्व डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, असम के सीएम हिमंता विसवा सरमा और केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति शामिल होंगी। जन्मोत्सव कार्यक्रम के समापन के अवसर पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी, यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत देश के कई राजनेता शामिल होंगे। मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने कहा कि रामनाम का होगा महायज्ञ और विशाल संत सम्मेलन के अवसर पर संतगण सरकार पर समान आचार संहिता के लिए दबाव बनाएंगे। संत सम्मेलन में बड़ी संख्या में संतों का जमावड़ा होगा। 10दिनों तक भंडारा चलेगा। महंत कमल नयन दास ने कहा कि महराज जी के जन्मोत्सव कार्यक्रम में संतों को अधिक से अधिक संख्या में पधारने का निमंत्रण भेजा गया है। इस कार्यक्रम में राजनेताओं को कम बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि हमारा कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता और देश की मजबूती की मंशा से आयोजित किया जा रहा है। -एजेंसियां
Reactions