Badaun/ Kampil: अटैना गंगा नदी में पाँच दोस्त नहाते समय डूबे तीन को बचाया दो की मौत

फर्रुखाबाद/कम्पिल, N.I.T. कम्पिल क्षेत्र से नहाने गए रविवार को बदायूँ के अटैना घाट स्थित गंगा नदी में पाँच दोस्त डूब गए। चीख पुकार की आवाज सुनकर वहां मौजूद गोताखोरों ने तीन को बचाया। जबकि दो युवकों की मौत हो गई। पानी से शवों को बाहर निकाला गया। सूचना पर उसहैत पुलिस और परिजन मौके पर पहुँचे। 

कम्पिल कस्बे के मोहल्ला माझगाँव निवासी अनमोल राजपूत 18 वर्ष पुत्र इंद्रपाल राजपूत (बल्ली) रविवार दोपहर को दोस्त पड़ोस के सौरभ पुत्र रघुनंदन, सोहिल पुत्र राजकुमार , रिंकू पुत्र राजेंद्र व गाँव हमीरपुर काजी निवासी सचिन राजपूत 17 वर्ष पुत्र अमर सिंह के साथ बदायूँ स्थित अटैना गंगा नदी पर रविवार की सुबह नहाने गए थे। पाँचों दोस्त एक साथ गंगा नदी में नहाने के लिए उतरे। गहरे पानी में जाने से सभी युवक डूबने लगें। वहां दुकान पर मिठाई बेच रही बच्ची ने युवकों को डूबते देख चिल्लाने लगी। आसपास मौजूद गोताखोर गंगा नदी की तरफ दौड़ पड़े। और उन्होंने युवकों को बचाने के लिए नदी में छलांग लगा दी। गोताखोरों ने कड़ी मशक्कत कर सौरभ, रिंकू, सोहिल को सकुशल बचा लिया। जबकि सचिन व अनमोल की गहरे पानी में डूब जाने से मौत हो गई। दोनों शवों को पानी से बाहर निकाला गया। सूचना पर मृतकों के परिजन व उसहैत थानाध्यक्ष अवधेश सेंगर व दातागंज तहसीलदार विनीत कुमार मौके पर पहुँचे। उन्होंने परिजनों से घटना के सम्बंध में जानकारी ली। लोगों की मौके पर भीड़ लग गई। 

मृतक अनमोल पाँच भाईयों में तीसरे नम्बर का था। सबसे बड़ा भाई विशाल, अरविंद, ज्ञान सिंह, सुमित है।  वही अमरसिंह के तीन पुत्रों पुष्पेंद्र व सतेंद्र व मृतक सचिन सबसे छोटा पुत्र था। 
अचानक पुत्रों की मौत से दोनों परिवारों में कोहराम मच गया। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। अमर सिंह ने बताया कि सचिन और अनमोल में कई वर्षों से गहरी दोस्ती थी वह एक साथ हरियाणा में रहकर प्राइवेट नौकरी करते थे। रक्षाबंधन के पर्व पर दोनों घर आये हुए थे। 
तहसीलदार विनीत कुमार ने पँचनामा भरकर सचिन के शव को पोस्टमार्टम के लिए बदायूँ भेज दिया। वही अनमोल के शव को परिजन बिना कार्रवाई के घर ले आये।

रिपोर्टर आमिर खान
Reactions